मुख्यमंत्री का आदेेश 100 दिन के एजेंडे पर काम करें यूपी के मंत्री और कर्मचारी, जारी होगा श्वेत पत्र

मुख्यमंत्री का आदेेश 100 दिन के एजेंडे पर काम करें यूपी के मंत्री और कर्मचारी, जारी होगा श्वेत पत्रसरकार के फैसलों के बारे में जानकारी देते ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा और प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री अवनीश अवस्थी।

लखनऊ। राज्य सरकार 100 दिन के एजेंडे पर काम कर रही है। जो भी मंत्री जिलों के प्रभारी बनाए गए हैं, उनको 100 दिन के भीतर एजेंडे केंद्र और राज्य सरकार को भेजने होंगे। इसके अलावा विभागों में किस तरह से काम हो रहा है, इसके लिए मंत्रियों को समय समय पर विभागों का औचक निरीक्षण करना होगा जबकि लापरवाह अफसरों के लिए सरकार ‘जीरो टॉलरेंस’ की नीति को अपनाएगी। अधिकारियों को दंड के साथ जेल की हवा भी खानी पड़ेगी।

ऊर्जा मंत्री और राज्य सरकार के प्रवक्ता श्रीकांत शर्मा ने शुक्रवार को प्रेस वार्ता में इस बात की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि बृहस्पतिवार को सभी विभागों के प्रजेन्टेशन पूरे हो चुके हैं। सभी मंत्रियों को अपने विभागों का श्वेत पत्र जारी करने का मुख्यमंत्री ने आदेश दिए। सरकार 100 दिन के एजेंडे पर कर काम रही है। मंत्री जिन्हें जिला का प्रभारी बनाया गया है वो जिलों में जाकर सरकार के 100 दिन के एजेंडे, केंद्र और प्रदेश सरकार की योजनाओं की जमीनी समीक्षा करेंगे। जनहित से जुड़ी समस्याओं जैसे बिजली, सड़क, किसानों से जुड़ी समस्याओं का निरीक्षण करने और उसकी समीक्षा करने के मंत्रियों को आदेश दिया गया है।

श्रीकांत शर्मा ने कहा कि, बेसिक शिक्षा में सुधार की आवश्यकता है। स्कूलों में जाकर निरीक्षण करने की आवश्यकता है। सभी मंत्री और अधिकारी अस्पतालों में सेवाओं का औचक निरीक्षण करें। उन्होंने अब लापरवाह अधिकारियों की लापरवाही नहीं जी जाएगी बर्दाश्त। जीरो टॉलरेंस के तहत जेल जाएंगे। सभी महानगरों में सभी नगरआयुक्तों को सफाई रखने के आदेश दिया गया है।

Share it
Top