अब दूध में मिलावट होगी मुश्किल, मोबाइल वैन में लगी मशीन 30 सेकेंड में पकड़ेगी मिलावट

अब दूध में मिलावट होगी मुश्किल, मोबाइल वैन में लगी मशीन 30 सेकेंड में पकड़ेगी मिलावटअमेठी में वैन को हरी झंडी दिखाकर रवाना करते जिलाधिकारी योगेश कुमार।

अमेठी/ प्रतापगढ़। खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन की ओर प्रदेश के सभी जिलों में मोबाइल प्रयोगशाला वैन चलाकर दूध की मिलावट को रोकने के लिए लोगों को जागरुक किया जा रहा है।

"लोगों को जागरुक करने के लिए इस वैन को जिलों में भेजा जा रहा है। अभी तक 50 से ज्यादा जिलों में ये वैन जा चुकी है। यह वैन दूध मड़ियों, मोहल्लों में जाकर दूध की जांच करती है। इन वैन के साथ जिलाधिकारी और संबधित अधिकारी लोगों को जागरुक भी कर रहे है।" ऐसा बताते हैं, खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन अपर आयुक्त राम अरज मौर्य।

अमेठी के जिलाधिकारी योगेश कुमार।

प्रतापगढ़ जिले में गुरुवार को जिलाधिकारी शरद कुमार सिंह की उपस्थिति में दूध की जांच कर प्रदर्शन किया गया और जिलाधिकारी द्वारा मोबाईल प्रयोगशाला वैन को हरी झण्डी दिखाकार अन्य स्थानों पर जांच हेतु रवाना किया गया। प्रतापगढ़ मुख्य खाद्य सुरक्षा अधिकारी अमित ने बताया, "मोबाईल वैन अम्बेडकर चौराहा, गाजी चौराहा, चौक, घण्टाघर, चिलबिला चौराहा, पट्टी और रानीगंज तहसील क्षेत्र से होते हुये देल्हूपुर में जांच कर दूध की शुद्धता के बारे में जागरूक किया गया। इस वैन से 38 दूध के नमूनों की जांच की गयी है।"

दूध की शुद्धता की जांच करने के लिए अमेठी के जिलाधिकारी योगेश कुमार ने बताया, "इस मशीन के माध्यम से यह तीस सेंकेड़ में पता लगाया जा सकता है कि होटलों, दुकानों, डेरियों व बाजारों में बिकने वाले दूध में कितनी मिलावट है। इस अभियान के तहत पूरे जिले में इस वैन को चलाया गया और उूध की जांच हुई। करीब 18-20 सैंपलों को इकट्ठा किया गया। लोग कैसे इसकी खुद जांच कर सकते है ये भी बताया गया। "

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहांक्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top