मोहर्रम के जुलूसों में हुए बवाल ने पुलिस के दावों की खोली पोल

मोहर्रम के जुलूसों में हुए बवाल ने पुलिस के दावों की खोली पोलउपद्रव के दौरान खड़ी पुलिस।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में मोहर्रम के जुलूस के दौरान नौ शहरों में तनाव बढ़ गया है। यूपी के कानपुर,बलिया, बाराबंकी, कुशीनगर, चंदौली,बरेली,सीतापुर सहित कई अन्य जिले से धार्मिक उन्माद से प्रभावित है। हालांकि यूपी पुलिस का दावा है कि, यह सभी जिले अब तनावमुक्त है और उपद्रव फैलाने वालों को चिन्हित कर उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जायेगी।

यूपी के 9 जिलों में मोहर्रम के दौरान हिंसा भडक़ गई, लेकिन मौजूदा वक्त में इन इलाकों में तनावपूर्ण शांति कायम है। बरेली, कानपुर में बवालियों ने पुलिस के वाहन तोड़े और पुलिस चौकी पर भी पथराव कर दिया था। पूरे बवाल में एक दर्जन से ज्यादा वाहन आग के हवाले किए गए। पथराव में एसपी साउथ, एक दारोगा सहित कुछ पुलिस कर्मीं भी घायल हो गए। बवाल को शांत करने और उपद्रवियों को तितर-बितर करने के लिए भारी संख्या में पहुंची पुलिस ने रबर की गोलियां, आसू गैस के गोले छोड़े।

बवाल के बाद से पूरे इलाके को छावनी में तब्दील कर दिया गया। वहीं बलिया जिले के सिकंदरपुर में एक दिन पहले हुए विवाद को लेकर पत्थरबाजी की अफवाह किसी ने उड़ा दी। इससे अचानक माहौल बिगड़ गया। देखते ही देखते दो पक्ष आमने-सामने आ गये और ईंट-पत्थर चलने लगे। आसपास की पांच दुकानों में धावा बोलकर लूटपाट की गई। दो बाइकों व दो साइकिलों को आग के हवाले कर दिया गया। उधर कानपुर में रविवार शाम तकरीबन चार बजे एक धार्मिक जुलूस जूही परमपुरवा से होकर गुजर रहा था। तय रूट से जुलूस के आगे बढऩे पर पुलिस ने उसे रोकते हुए लोगों को समझाया।

तस्वीरों में देखिए नवाबों के शहर लखनऊ का मोहर्रम

पुलिस की बात लोग मानते उससे पहले ही कुछ उपद्रवियों ने मौके का फायदा उठाते हुए घर के अंदर से पथराव शुरू कर दिया। अचानक हुए पथराव से भगदड़ जैसे हालात बन गए। पथराव कर रहे लोगों को रोकने के लिए एसपी साउथ आगे बढ़े तो किसी ने उनके हाथ पर डंडे से वार कर दिया। तब तक दो तरफ से पथराव शुरू हो गया। इतना ही नहीं भीड़ ने उस मकान में आग लगाने की भी कोशिश की।

पुलिस के रोकने पर भीड़ ने पुलिस को ही दौड़ा लिया। टेंट हाउस के बाहर खड़ी पांच बाइकों में आग लगा दी। बेकाबू भीड़ आजगनी पर उतारू हो गई। पूरे इलाके में भगदड़ जैसा माहौल बन गया। पथराव में उधर से गुजर रहे वाहनों के शीशे टूट गए। इसके बाद उपद्रवियों ने जूही परमपुरवा पुलिस चौकी में घुसकर तोडफ़ोड़ की।


वहीं बाराबंकी के जैदपुर थाना क्षेत्र स्थित अहमद गाँव में रविवार की शाम ताजिया जुलूस के दौरान एक अफवाह ने माहौल को इस कदर बिगाड़ा कि दो पक्ष आमने-सामने आ गये। इस दौरान उपद्रवियों ने दुकानों में तोडफ़ोड़ और लूटपाट की, दो साइकिलों व दो बाइकों को आग के हवाले कर दिया। दोनों ओर से जबरदस्त ईंट-पत्थर चले। भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने हल्के बल का प्रयोग किया। पूरे कस्बे में पुलिस के जवान तैनात कर दिये गये। वहीं इस बवाल पर एडीजी जोन लखनऊ अभय प्रसाद का कहना है, “उपद्रवियों की शिनाख्त जल्द कर ली जायेगी और उनके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जायेगी। वहीं बलिया जिले में हालात बेकाबू होता देख जिला प्रशासन ने कुछ क्षेत्रों में धारा 144 लगाने के साथ ही प्रशासन ने इलाके में सख्ती बढ़ा दी है।”

आसपास के जिलों से भी पुलिस फोर्स बुला ली गई। कुछ इसी तरह का माहौल प्रदेश के अन्य जिलों में हुए है, जिसे काबू में करने के लिए पुलिस बल को काफी मशक्कत करनी पड़ी। उधर एडीजी एलओ आनंद कुमार का कहन है कि, पूरे प्रदेश में हालात अब सामान्य है, जबकि जिल जिलों से उपद्रव की सूचना आई, वहां अतिरिक्त फोर्स लगा माहौल को शांत कराया गया। उन्होंने कहा कि, कुछ अराजकतत्वों ने माहौल खराब करने का प्रयास किया, लेकिन प्रशासन ने वक्त रहते हालात पर काबू पा लिया है। हालांकि कुछ जिलों में एहतियातन कड़ी नजर रखी जा रही है, जिससे दोबारा से वहां का माहौल खराब न हो सके।

ये भी पढ़ें-बड़ी ख़बर : कानपुर नगर में दो पक्षों के बीच तनाव , ताजिए के जुलूस को लेकर हुआ विवाद

यूपी : दुर्गा पूजा और मोहर्रम पर पुलिस चप्पे-चप्पे पर मुस्तैद

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top