उत्तर प्रदेश

यूपी में 72 मोस्टवांटेड मनचले, 10-10 बार लड़कियों को कर चुके हैं परेशान

लखनऊ। उत्तरप्रदेश की वीमेन पॉवर लाइन 1090 ने प्रदेश में एक लिस्ट बनाई है, जो युवतियों से 10 से अधिक बार छेड़खानी जैसी घटना को अंजाम दे चूके हैं।

वीमेन पॉवर लाइन 1090 ने कुछ ऐसे ही 72 मनचलों को चिन्हित कर युवतियों से कई बार कर लिया है। इसके तहत इन मनचलों पर संबंधित थानों को नजर रखने के छेड़छाड़ करने के मामले में मोस्ट वांटेड मनचले सूची में शामिल साथ-साथ इन पर दण्डात्मक कठोर कार्रवाई करने के भी निर्देश है।

वीमेन पॉवर लाइन 1090 के आईजी नवनीत सिकेरा ने बताया कि, “लंबे समय से 1090 युवतियों से छेड़छाड़ रोकने के मामले में कार्य कर रहा है। इस दौरान कई जिलों से कुछ ऐसे मनचलों को भी पकड़ा गया है, जो दस से अधिक बार युवतियों से मोबाइल फोन पर लगातार छेड़छाड़ करते आ रहे हैं।”

आईजी ने कहा कि, उनकी इस करतूत के चलते इन मनचलों को चिन्हित कर 1090 ने आरोपियों के संबंधित थाने में शिकायत कर उनके खिलाफ कठोर कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं। आईजी नवनीत सिकेरा ने कहा कि, यह लिस्ट केवल इसलिए बनाई गई है कि, युवतियों से मोबाइल फोन पर छेड़छाड़ होने या अन्य किसी अपराध के होने पर इन मोस्ट वांटेड मनचलों की गतिविधियों पर भी नजर रखी जा सके।

ये भी पढ़ें-बड़ा सवाल : आरुषि हेमराज को फिर मारा किसने ?

उन्होंने कहा कि, यह सभी मनचले इतने अधिक शातिर किस्म के है कि, वह छेड़छाड़ की घटना को अंजाम देने के लिए फर्जी तरीके से सिम कार्ड लिया। इसके पीछे उनकी मंशा थी कि, वह दोबारा छेड़छाड़ जैसी घटना दोहराने पर पकड़े नहीं जायेगे, लेकिन वीमेन पॉवर लाइन की टीम ने सराहनीय कार्य करते हुए मनचलों को धर-दबोचा पकड़े जाने पर आरोपियों ने कबूल किया कि, उन्होंने ही पहले भी एक युवती से मोबाइल फोन पर छेड़छाड़ की घटना को अंजाम दिया है।

इस तरह के प्रदेश भर से कई मामले सामने आये, जिसके बाद 1090 ने मोस्ट वांटेड मनचलों की सूची तैयार की, जिसके तहत प्रदेश के कई जिलों से 72 मनचलों को चिन्हित किया गया है। वहीं मोस्ट वांटेड मनचलों की बात करे तो सबसे अधिक लखनऊ रेंज के हैं। साथ ही एक शोहदा मुम्बई के ठाणे क्षेत्र का रहने वाला है। हम आपको यह नाम केवल उनकी गोपनीयता बने रहने के चलते उजागर नहीं कर पा रहे है। जबकि इस लिस्ट ज्यादातर मनचले पूर्वी यूपी से है। इसके पीछे वजह मानी जा रही है कि, जिन जिलों में 1090 का अधिक प्रचार-प्रसार है वहां से युवतियों की अधिक शिकायतें हैं, क्योंकि उन युवतियों को यह मालूम है कि, उनके पास मनचलों को सबक सिखाने का एक नायाब हथियार है, जिससे मनचलों को सलाखों के पीछे भेजने का एक हथियार है।

ये भी पढ़ें-विशेष : छात्र संघ चुनाव की पहली सीढ़ी चढ़ रहे युवाओं को ये भी पढ़ना चाहिए

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।