यूपीः जेल में बंद मुख्तार अंसारी को पड़ा दिल का दौरा, पत्नी को भी लगा सदमा, लखनऊ रेफर 

यूपीः  जेल में बंद मुख्तार अंसारी को पड़ा दिल का दौरा, पत्नी को भी लगा सदमा, लखनऊ रेफर मुख्तार अंसारी

लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी के बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी की तबीयत खराब हो गई है। बांदा जेल में बंद मुख्तार अंसारी को अब लखनऊ रेफर किया गया है।

बांदा जिला कारागार में बंद मुख्तार अंसारी की तबीयत बिगड़ गई है। इसके बाद उनको जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। आज सुबह उनसे मिलने आई पत्नी की भी तबीयत खराब हो गई है। दोनों को एक ही डॉक्टर के अंडर में रखा गया है। मुख्तार के साथ ही उनकी पत्नी को बीपी की समस्या बताइ जा रही। डॉक्टर का कहना है कि मुख्तार अंसारी को पहले से ब्लड शुगर के साथ ही हार्ट में दिक्कत थी। अब इन दोनों को लखनऊ रेफर किया जा रहा है।

बांदा। बाहुबली नेता मुख्तार अंसारी की तबीयत अचानक जेल में बिगड़ गई है। उन्हें इलाज के लिए बांदा के सिविल हॉस्पिटल में भर्ती किया गया, लेकिन अब उन्हें लखनऊ लाया जा रहा है। पहले उन्हें कानपुर रेफर किया गया था लेकिन नाजुक हालत को देखते हुए उन्हें लखनऊ भेजा जा रहा है।

बता दें, मुख्तार अंसारी बांदा जेल में बंद हैं। उनके ऊपर कई केस दर्ज हैं। मंगलवार सुबह मुख्तार से मिलने के लिए उनकी पत्नी पहुंचीं थी। मुख्तार की तबीयत देख उन्हें भी हार्ट अटैक आ गया। दोनों को बांदा के सिविल हॉस्पिटल के एक ही रूम में भर्ती कराया गया था। मुख्तार के साथ ही उनकी पत्नी को बीपी की समस्या बताइ जा रही। डॉक्टर का कहना है कि मुख्तार अंसारी को पहले से ब्लड शुगर के साथ ही हार्ट में दिक्कत थी। अब इन दोनों को लखनऊ रेफर किया जा रहा है।

एडीजी ला एंड आर्डर आनंद कुमार ने कहा, "हमको सूचना मिली है कि विधायक मुख्तार अंसारी को बांदा जेल से चिकित्सा के लिए लखनऊ या किसी अन्य शहर में रेफर किया गया है। उनकी सुरक्षा की पूरी जिम्मेदारी हमारी है। हम उनको हर स्तर की सुरक्षा मुहैया कराएंगे।"

एडीजी जेल पीके मिश्रा ने बताया, "मंगलवार सुबह घटना की जानकारी मिली थी जिसके बाद उन्हें गंभीर हालात में कानपुर रेफर किया गया था। अब उन्हें कानपुर से लखनऊ लाया जा रहा है।"

डॉ किशोरी लाल सीएमएस जिला अस्पताल बांदा ने बताया, "मुख्तार अंसारी की हालत सीरियस है। वह पहले से ब्लड प्रेशर, कार्डियक के पेशेंट हैं। इसलिए हालत गंभीर है। उन्हें लखनऊ के लिए रेफर करना बेहतर है। उनकी वाइफ को भी दिल का दौरा पड़ा है। उन्हें भी भेजा जा रहा है।"

कौन हैं मुख्तार अंसारी

मुख्तार अंसारी बसपा नेता हैं और वो आजमगढ़ जिले की मऊ विधानसभा सीट से विधायक हैं। मंगलवार की सुबह जिला जेल में उनकी पत्नी उनसे मिलने पहुंची थी उसके बाद उनकी भी तबियत बिगड़ गई।

इस मामले में जेल में हैं बंद

29 नवंबर, 2005 को गाजीपुर के भांवरकोल की बसनिया पुलिस के पास अपराधियों ने एक-47 एवं अन्य स्वचालित हथियारों से अंधाधुंध फायरिंग करके बीजेपी विधायक कृष्णानंद राय व उनके 6 साथियों की हत्या कर दी थी। मरने वालों में मुहम्मदाबाद के पूर्व ब्लॉक प्रमुख श्यामशंकर राय, भांवरकोल ब्लॉक के मंडल अध्यक्ष रमेश राय, अखिलेश राय, शेषनाथ पटेल, मुन्ना यादव व उनके अंगरक्षक निर्भय नारायण उपाध्याय की हत्या कर दी गयी थी। इस समय यूपी में मुलायम सिंह यादव की सरकार थी और स्वर्गीय कृष्णानंद राय की पत्नी अलका राय ने पति के हत्या करने के आरोप में बाहुबली मुख्तार अंसारी के खिलाफ हत्याकांड की सीबीआई जांच कराने की मांग को स्वीकार करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने जांच सीबीआई को सौंपी थी। उसके बाद से बाहुबली मुख्तार अंसारी इसी हत्या के आरोप में जेल में बंद हैं।

इस मामले में हुए थे बरी

उत्तर प्रदेश के मऊ जिले में ठेकेदार मन्ना सिंह व साथी राजेश राय हत्याकांड मामले में फास्ट ट्रैक कोर्ट ने आठ साल बाद विधायक मुख्तार अंसारी सहित आठ लोगों को बरी कर दिया, वहीं तीन लोगों को दोषी करार दिया है।

28 दिसंबर, 2017 को ठेकेदार मन्ना सिंह व इनके साथी राजेश राय की 29 अगस्त, 2009 को कोतवाली शहर के नरई बांध के पास यूनियन बैंक के पास बाइक सवार बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। मामले में हरेंद्र सिंह की शिकायत पर पुलिस ने मुख्तार सहित 11 लोगों पर केस दर्ज किया था। आठ साल तक चली सुनवाई के दौरान 22 गवाहों में से 17 गवाह पेश किए गए थे।

Share it
Top