Top

योगी कैबिनेट का फैसला : जर्जर सीएचसी व पीएचसी को गिराकर बनेंगी नई बिल्डिंग

योगी कैबिनेट का फैसला : जर्जर सीएचसी व पीएचसी को गिराकर बनेंगी नई बिल्डिंगकैबिनेट की बैठक के लिए जाते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ। 

लखनऊ। प्रदेश में जर्जर हो चुकी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र (सीएचसी) और पीएचसी को ध्वस्त करके उसकी जगह नया भवन बनाया जाएगा। गुरुवार को उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार की कैबिनेट मीटिंग में यह फैसला किया गया। लोकभवन में आयोजित इस बैठक में कई अहम प्रस्तावों को पास किया गया। जिसकी जानकारी सरकार के प्रवक्ता स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह और ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस में दी।

उन्होंने बताया कि प्रदेश के शहरी गरीबों को मुफ्त बिजली कनेक्शन दिया जाएगा। साथ ही शहरी गरीबी कार्ड धारकों को अब बिजली मुफ्त मिलेगी। कैबिनेट ने इसका फैसला किया। इसके अलावा पिछड़ा वर्ग के शिक्षित बेरोजगार की योजना में ओ लेवल कम्प्यूटर ट्रेनिंग में धनराशि 10 हज़ार से बढ़ाकर 15 हजार की गई। सिद्धार्थनाथ सिंह ने बताया कि आज़मगढ़ के राजकीय इंजीनियरिंग कॉलेज का बजट बढ़ाकर अब 133.9 करोड़ करने का फैसला किया गया है। विधान मंडल क्षेत्र की विकास निधि को लेकर सिद्धांत बनाने का फैसला लिया गया है, इसके लिए नई नियमावली बनेगी, जिसमें एनजीओ, सहकारी समितियों, निजी ठेकेदारों को अब काम नहीं दिया जाएगा। विकास निधि योजना का काम उस संस्था को नही मिलेगा जिसमे विधायक का कोई संबंधी हो।

ये भी पढ़ें : दिव्यांगजनों का कर्ज माफ करने पर विचार कर रही योगी सरकार

कैबिनेट बैठक की जानकारी देते हुए प्रवक्ता श्रीकांत शर्मा ने बताया कि पीएम आवास योजना में अनुसूचित जाति, जनजाति, सामान्य-अल्पसंख्यक, पिछड़े का लक्ष्य 2017-18 के लिए 396594 बढ़ाया गया। इन कैटिगिरियों में 970108 लोगों को मिलेगा आवास का लाभ। आवास योजना के पत्र अपने जनपदों में प्रभारी मंत्री बांटेंगे। गोरखपुर के संग्रामपुर कस्बे को नगर पंचायत बनाए जाने का फैसला लिया गया है।

ये भी पढ़ें : योगी सरकार ने शुरू की किसानों के लिए हेल्पलाइन

उन्होंने बताया कि कैबिनेट की बैठक में पोषाहार का टेंडर भी निरस्त करने का फैसला हुआ है। तीन महीने के अंदर नए टेंडर लाया जाएगा। बाल विकास मंत्रालय में 2016-17 के टेंडर निरस्त किए गए हैं। अब विकलांग कल्याण विभाग का नाम अब दिव्यांग कल्याण विभाग होगा। पवार फॉर ऑल के तहत रायबरेली और फ़िरोज़ाबाद में 400 केवी का उपकेंद्र बनेगा।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.