योगी की हिंदु युवा वाहिनी में आवेदन के लिए आ रहे 5000 आवेदन लेकिन एक भी महिला शामिल नहीं

योगी की हिंदु युवा वाहिनी में आवेदन के लिए आ रहे 5000 आवेदन लेकिन एक भी महिला शामिल नहींयोगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद हिंदु युवा वाहिनी की लोकप्रियता बढ़ी है (फोटो साभार: इंडियन एक्सप्रेस)

लखनऊ। जब से योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री का पद संभाला है, तब से उनके संगठन हिन्दु युवा वाहिनी में लोगों का रुझान काफी बढ़ गया है, आलम यह है कि हिंदु युवा वाहिनी के कार्यालय में इस समय एक दिन में 5000 से ज्यादा मेंबरशिप के लिए लोग आवेदन कर रहे हैं।

गौरतलब है कि हिंदु युवा वाहिनी की स्थापना 2002 में योगी आदित्यनाथ ने की थी। इस समय यह चर्चा भी है कि संस्था ने अपने नए नियम जारी किए हैं जिसके अनुसार, अब इसके सदस्य की एक साल तक निगरानी होगी। सदस्य को बैकग्राउंड चेकिंग और वेरिफिकेशन प्रक्रिया से भी गुजरना होगा।

वहीं एक सच यह भी है इस संस्था से अभी तक कोई महिला नहीं जुड़ी है। इस बारे में हमसे बातचीत में हिंदु युवा वाहिनी के प्रदेश प्रभारी राघवेंद्र प्रताप सिंह बताते हैं कि यह महज इत्तेफाक है कि अब तक किसी महिला ने इसके लिए आवेदन नहीं किया जबकि हमारे संगठन में इस पर कोई प्रावधान भी नहीं है। इसके अलावा विश्व हिंदु महासंघ जो एक अंतर्राष्ट्रीय संगठन है इसके राष्ट्रीय अध्यक्ष योगी आदित्यनाथ ही है। इसके साथ मातृ शक्ति प्रकोष्ठ नाम का एक संगठन भी काम कर रहा है।

गौरतलब है कि हिंदु युवा वाहिनी की स्थापना 2002 में योगी आदित्यनाथ ने की थी। इस समय यह चर्चा भी है कि संस्था ने अपने नए नियम जारी किए हैं जिसके अनुसार, अब इसके सदस्य की एक साल तक निगरानी होगी। सदस्य को बैकग्राउंड चेकिंग और वेरिफिकेशन प्रक्रिया से भी गुजरना होगा।

इस बारे में राघवेंद्र प्रताप सिंह का कहना है कि यह नियम शुरू से हैं लेकिन सरकार बनने के बाद लोग ज्यादा से ज्यादा इसके लिए आवेदन भेज रहे हैं। लोग जुड़ना चाहते हैं इसलिए यह चर्चा में आ गया। हम हमेशा से ही अच्छे लोगों को संगठन में शामिल करना चाहते हैं लेकिन फिर भी कुछ बागी शामिल हो जाते हैं, हालांकि इन पर निगरानी का प्रयास जारी है।

कार्यालय का फोन लगातार आ रहा व्यस्त

वहीं हिंदु युवा वाहिनी के गोरखपुर स्थित मुख्य ऑफिस में इस समय सदस्यता के लिए ज्यादा से ज्यादा कॉल आने की वजह से ऑफिस का फोन लगातार बिजी आ रहा है। वेबसाइट पर दिए गए नंबर पर फोन मिलाने पर बार-बार ‘उपभोक्ता बिजी है’ की टेपिंग सुनाई देती है। पहले आवेदक को मेंबरशिप के लिए 11 रुपए चार्ज करने होते थे लेकिन अब यह पूरी तरह मुफ्त है और सिर्फ ऑनलाइन एप्लीकेशन ही एक्सेप्ट की जाएगी। इसके लिए आधार कार्ड को आईडी प्रूफ के रूप में इस्तेमाल किया जाएगा।

पूरे प्रदेश में हिंदु युवा वाहिनी के जिला और महानगर इकाइयों को मिलाकर कुल 88 इकाइयां हैं। इसमें 75 जिले हैं और 13 स्थानीय इकाइयां हैं।

Share it
Top