Top

‘नो हेलमेट नो पेट्रोल’ के पहले ही दिन तेल भराने के लिए भटकते मिले वाहन चालक

‘नो हेलमेट नो पेट्रोल’ के  पहले ही दिन तेल भराने के लिए भटकते मिले वाहन चालकलखनऊ के एक पेट्रोल पंप पर ‘नो हेलमेट नो पेट्रोल’ अभियान का पालन कराता पुलिस कर्मी।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के एसएसपी ने सुरक्षा और ट्रैफिक नियमों को सख्ती से पालन कराने के लिए नो हेलमेट-नो पेट्रोल अभियान की शुरूआत कर दी है। बगैर हेलमेट, बगैर कार सीट बेल्ट के पेट्रोल लेने की सोच रहे चालकों को सोमवार को बगैर पेट्रोल के ही निराश होकर लौटना पड़ा। हालांकि सभी थानों की पुलिस ने इस नियम को पालन कराने के लिए पुलिसकर्मियों को तैनात कर रखा था, जहां पुलिस ने ट्रैफिक नियम न पालन करने वालों को जागरूक किया। 17 मई को एसएसपी दीपक कुमार ने पेट्रोल पम्प एसोसिएशन के पदाधिकारियों के साथ एक बैठक कर इस पहल की शुरुआत करने की योजना बनाई थी।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

प्रदेश सहित राजधानी में बढ़ते सड़क हादसों के मद्देनजर नो हेलमेट नो पेट्रोल जागरुकता अभियान की शुरुआत की गई है। इसका मकसद केवल लोगों को ट्रैफिक संबंधित नियमों को पालन कराने और बढ़ते हादसों पर लगाम लागने की योजना है। जिसकी पहल राजधानी से की गई है। हालांकि पहले भी कई बार शहर में इस योजना को अमलीजामा पहनाने का प्रयास किया गया था, लेकिन लखनऊ पुलिस इसे सख्ती से लागू करा पाने में नाकाम रही थी।

ये भी पढ़ें: इन बातों का रखें ध्यान, नहीं तो नहीं मिलेगा पेट्रोल-डीजल

वहीं एसएसपी दीपक कुमार के मुताबिक, लोगों को ट्रैफिक नियमों के लिए जागरूक करने के मकसद से यह अभियान चलाया गया है। अगर बाइक सवार हेलमेट नहीं पहनता और कार सवार सीट बेल्ट न लगाए तो, उसे पेट्रोल पंपों पर पेट्रोल नहीं दिया जायेगा। जिसके चलते लोग हेलमेट पहनने को मजबूर होंगे।

ये भी पढ़ें: सिर्फ पेट्रोल पंप ही नहीं, रिफाइनरी से लेकर टैंकर तक में होता बड़ा खेल

वहीं नो हेलमेट-नो पेट्रोल के इस नियम की निगरानी सीसीटीवी कैमरों से पुलिस करेगी। इस काम में पेट्रोल पंपों पर लगे सीसीटीवी कैमरों से इस बात की निगरानी की जाएगी कि पम्प कर्मी इस योजना का सख्ती से पालन कर रहे हैं या नहीं।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.