Top

पात्रों को पेंशन मिलने में न हो कोई परेशानी, पेंशन पाने वालों का वार्षिक सत्यापन शुरू

Ajay MishraAjay Mishra   26 April 2017 1:18 PM GMT

पात्रों को पेंशन मिलने में न हो कोई परेशानी, पेंशन पाने वालों का वार्षिक सत्यापन शुरूवृद्धावस्था, विधवा और दिव्यांग पेंशन पाने वालों का वार्षिक सत्यापन शुरू हो गया है।

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

कन्नौज। वृद्धावस्था, विधवा और दिव्यांग पेंशन पाने वालों का वार्षिक सत्यापन शुरू हो गया है। इस काम में तीन सौ से अधिक अधिकारियों और कर्मचारियों को लगाया गया है। सभी अपनी-अपनी रिपोर्ट ब्लॉक, तहसील और जिलास्तर पर देंगे। कुल जनपद में 1,32,531 पेंशन पाने वाले लोगों की जांच होगी।

अक्सर पेंशन पाने वालों के सत्यापन के बाद संबंधित विभागों या अफसरों के पास शिकायतें आती हैं कि वह जिंदा है और मृत दिखाकर पेंशन काट दी गई। कोई कहता है कि वह पात्र है, लेकिन प्रधान या पूर्व प्रधान ने उसकी पेंशन बंद करा दी। ये मामले जब पता चलते हैं तब तक काफी देर हो चुकी होती है। बैंक खाते में चेक कराने के बाद ही लोग समाज कल्याण विभाग, प्रोबेशन विभाग, दिव्यांग विभाग आदि पहुंचते हैं। यहीं से मामला खुलता है।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

जिला समाज कल्याण अधिकारी सरोज पाठक बताती हैं, ‘‘जनपद में समाजवादी पेंशन के लाभार्थियों की संख्या 57,737 और वृद्धावस्था पेंशन पाने वाले लाभार्थियों की संख्या 49,537 है। सभी का वार्षिक सर्वे करने के लिए करीब 200 लेखपाल और ग्राम पंचायत तथा ग्राम विकास अधिकारी लगाए गए हैं, जो मौके पर पहुंचकर पेंशनरों का सत्यापन कर रिपोर्ट देंगे।’’

वहीं दिव्यांग जन सशक्तिकरण विभाग के अफसर राजेश कुमार बघेल कहते हैं, ‘‘111 जिलास्तरीय समेत अन्य अफसर सत्यापन में लगाए गए हैं। यह अफसर मौके पर पहुंचकर पेंशनरों की जांच करेंगे। 10 मई को सीडीओ को सूची सौंपी जाएगी। इसके लिए 27 अप्रैल को डीएम की अध्यक्षता में बैठक भी होगी।’’

समाजवादी पेंशन योजना का बदला नाम

प्रदेश के नए मुख्यमंत्री ने समाजवादी पेंशन योजना का नाम बदलकर मुख्यमंत्री पेंशन योजना रख दिया है। इसके साथ ही इस योजना का लाभ पाने वाले लाभार्थियों के सत्यापन कराया जाएगा। जिसके बाद पात्र लोगों को ही इस योजना का लाभ मिल सकेगा।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.