पुलिस सेवा को बेहतर बनाने कि लिये अब हर थाने का बनेगा रिपोर्ट कार्ड 

पुलिस सेवा को बेहतर बनाने कि लिये अब हर थाने का बनेगा रिपोर्ट कार्ड पुलिस सेवाओं को बेहतर बनाने के लिए थानों में ग्रेडिंग सिस्टम शुरू किया जा रहा है।

अनिल चौधरी, स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

पीलीभीत। अपराध पर नियंत्रण और पुलिस सेवाओं को बेहतर बनाने के लिए थानों में ग्रेडिंग सिस्टम शुरू किया जा रहा है। इस संबंध में एडीजी क्राइम का आदेश का मिलने के बाद आईजी ने सभी रेंज के डीआईजी और एसएसपी को तत्काल यह व्यवस्था लागू करने के लिए निर्देश दिए है। सभी थानों में ग्रेडिंग को लेकर प्रोफार्मा भी भेजा जा रहा है। हर महीने समीक्षा रिपोर्ट मुख्यालय भेजी जाएगी। इसके अलावा हर जिले का एक अच्छा थाना और एक बुरा थाना चुना जायेगा।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

इस तरह होगी मार्किंग

हत्या और बलवा की घटनाओं को रोकने के लिए पुरानी रंजिशों में 100 प्रतिशत लोगो को पाबंद करने पर 10 अंक दिए जाएंगे। 80 प्रतिशत तक लोगों को पाबंद करने 5 नंबर दिए जाएंगे और ऐसी कोई भी वारदात होने पर -10 अंक दिए जाएंगे। संगठित गिरोह और माफियाओं के खिलाफ एक्शन लेने पर एनएसएए, गैंगस्टर और कुर्की करने पर तीन-तीन अंक देना तय किए गए हैं। तीन साल के अपराधियों के डोजियर पर 5 अंक और नहीं तैयार करने पर -5 अंक दिए जाएंगे। महिलाओं के साथ छेड़खानी व रेप की वारदातों पर 45 दिनों में 100 प्रतिशत निस्तारण करने पर 10 नंबर , 45 से 60 दिनों में निस्तारण करने पर 5 नंबर और 60 दिनों से अधिक होने पर -5 नंबर मिलेंगे।

भगौड़ों के खिलाफ कार्रवाई करने पर, संपत्ति की नीलामी करने पर 2 नंबर और नीलामी नहीं करने पर -2 नंबर दिए जाएंगे। अपराधों के पंजीकरण के मामले में एफआईआर नहीं लिखने पर -5 अंक और वारदात को कम करके दिखाने पर -3 अंक मिलेंगे। आरोपी की गिरफ़्तारी करने पर 5 नंबर और आरोपियों की संख्या बढ़ने पर -5 नंबर मिलेंगे। किसी भी मुक़दमे में 50 प्रतिशत से कम गवाहों को कोर्ट में पेश करने पर -5 नंबर और 60 से 75 प्रतिशत तक होने पर 5 नंबर दिए जाएंगे।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top