उमर्दा ब्लॉक प्रमुख के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पारित

Mohit AsthanaMohit Asthana   30 April 2017 4:01 PM GMT

उमर्दा ब्लॉक  प्रमुख के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पारितजिले के उमर्दा ब्लॉक प्रमुख के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पारित हो गया।

मोहम्मद परवेज, स्वयं कम्युनिटी जर्नलिस्ट

कन्नौज। जिले के उमर्दा ब्लॉक प्रमुख के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पारित हो गया। हालांकि प्रमुख समेत 49 बीडीसी ने मतदान में भाग नहीं लिया। शनिवार को सुबह 10 बजे सपा समर्थित ब्लॉक प्रमुख उमर्दा के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव की प्रक्रिया शुरू हुई।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

डीएम ने इसके लिए एसडीएम तिर्वा राजेश कुमार यादव को पीठासीन अधिकारी बनाया था। ब्लॉक में 145 बीडीसी हैं। अविश्वास प्रस्ताव के दौरान 97 सदस्यों ने मतदान किया। पीठासीन अधिकारी ने बताया, “एक बीडीसी ने अविश्वास प्रस्ताव के विरोध में और 96 सदस्यों ने अविश्वास प्रस्ताव के पक्ष में मतदान किया है। वर्तमान ब्लॉक प्रमुख इंद्रेश यादव ने मतदान में हिस्सा नहीं लिया।’’

दो एसडीएम के साथ पुलिसबल तैनात

अविश्वास प्रस्ताव के दौरान जहां एसडीएम तिर्वा को पीठासीन अधिकारी बनाया गया था तो दूसरी ओर एसडीएम छिबरामऊ उदयवीर सिंह को सुरक्षा व्यवस्था में लाया गया था। 10 साल पहले उमर्दा ब्लॉक परिसर में ही चुनाव के दौरान खूब गोलियां चली थीं। उस दौरान सूबे में सपा सरकार थी। तिर्वा सीओ अंबरीश कुमार भदौरिया, तिर्वा इंस्पेक्टर समेत पुलिस और पीएसी बल तैनात रहा। इस दौरान भाजयुमो प्रदेश अध्यक्ष सुब्रत पाठक और तिर्वा विधायक कैलाश राजपूत ब्लॉक परिसर के बाहर उपस्थित रहे। पार्टी कार्यालय से ही वे इस मामले की जानकारी लेते रहे।

जिस समय अविश्वास प्रस्ताव की प्रक्रिया चल रही थी, उस दौरान वर्तमान ब्लॉक प्रमुख इंद्रेश यादव और पूर्व ब्लॉक प्रमुख अजय वर्मा के बीच अच्छी ट्यूनिंग देखने को मिली। बताते चलें कि मौजूदा प्रमुख के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव के लिया पूर्व ब्लॉक प्रमुख अजय वर्मा ने ही पैरवी की थी।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top