हज यात्रियों की खिदमत करने के इच्छुक लोग सात जून तक कर सकते हैं आवेदन 

Karan Pal SinghKaran Pal Singh   24 May 2017 4:48 PM GMT

हज यात्रियों की खिदमत करने के इच्छुक लोग सात जून तक कर सकते हैं आवेदन हज यात्रा 2017 के लिए हज सेवक चयन के लिए आवेदन सात जून तक।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश से हजयात्रा पर जाने वाले यात्रियों की सेवा और सुविधा के लिए खादिमुल हुज्जाज (हज सेवक) जाएंगे। सरकारी कर्मचारियों को हज के दौरान सऊदी अरब में ड्यूटी पर तैनात करने के लिए निर्धारित शर्तों एवं नियमों के अधीन इच्छुक कार्मिकों से आवेदन पत्र निर्धारित प्रोफार्मा पर आमंत्रित किये जाने का निर्णय लिया गया है। खादिमुल हुज्ज़ाज (हज सेवक) बनने के लिए फार्म राज्य हज समिति को सात जून तक प्रस्तुत करने के निर्देश दिए गए हैं।

25 से 58 वर्ष हो उम्र

प्रमुख सचिव कार्मिक की ओर से 19 मई को जारी दिशा-निर्देशों में कहा गया है कि समस्त विभागाध्यक्ष, आयुक्त तथा जिलाधिकारी को अपने स्तर से इच्छुक कार्मिकों के आवेदन पत्र आवश्यक संलग्नकों सहित उत्तर प्रदेश राज्य हज समिति को भेजने के लिए कहा गया है। खादिमुल हुज्जाज (हज सेवक) के रूप में चुने जाने के लिए सिर्फ पुरुष ही पात्र होंगे जिनकी आयु 01 जुलाई 2017 को 25 से 58 वर्ष के मध्य होगी। राज्य हज कमेटी के सेवारत कार्मिकों को उम्र में छूट दी जा सकती है।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

हज किए हुए ही होंगे पात्र

खादिमुल हुज्जाज (हज सेवक) बनने के लिए वे ही अभ्यर्थी पात्र होंगे, जिन्होंने पहले से ही हज और उमरा किया हो और उन्हें अरबी भाषा की अच्छी जानकारी हो। अभ्यर्थी को सक्रिय और स्वस्थ होना चाहिए और सार्वजनिक कार्यक्रमों के आयोजन का अनुभव भी होना चाहिए। अभ्यर्थी को राजकीय चिकित्सालय से मेडिकल सर्टिफिकेट देना होगा। इसके अलावा चयनित अभ्यर्थी को हज कमेटी आफ इण्डिया द्वारा आयोजित प्रशिक्षण कार्यक्रम में भाग लेना होगा अन्यथा उसका चयन रद्द कर दिया जाएगा।

सरकारी विभाग के अनुभवियों को दी जाएगी वरीयता

ऐसे कर्मी जिन्हें पुलिस, होमगार्ड, वन तथा राजस्व विभाग में कार्य करने का अनुभव है उन्हें वरीयता दी जाएगी। कार्मिकों को अपने नियोक्ता से अनापत्ति प्रमाण पत्र भी प्रस्तुत करना होगा।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top