पुलिस व एनडीआरएफ की टीम ने इंदिरा नहर से बरामद किए शव 

पुलिस व एनडीआरएफ की टीम ने इंदिरा नहर से बरामद किए शव इंदिरा नहर में डूबे तीन छात्रों के शव निकालने का प्रयास करती एनडीआरएफ व पुलिस की टीम।

लखनऊ। राजधानी के गोसाईगंज स्थित इंदिरा नहर में डूबे तीन छात्रों में से दो के शव रविवार शाम को पुलिस व एनडीआरएफ की टीम ने नहर से बरामद कर लिए। जबकि एक छात्र का शव बीते शनिवार शाम को नहर से बरामद हो गया था। पुलिस ने दोनों शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजते हुए मौके पर मौजूद परिजनों को सूचित कर दिया।

ज्ञात हो कि, बीते शुक्रवार को चिनहट के कांशी राम कॉलोनी निवासी चार दोस्त निखिल, करण, सुदीप और सौरभ नहर किनारे गए थे। यह सभी छात्र कक्षा 9 के है। चारो दोस्त गोसाइगंज के नूरपुर गांव के पास पहुंचे तो सुदीप पैर में लगा कीचड़ साफ करने के लिए नहर के पास गया। अचानक से सुदीप का पैर फिसला तो उसके तीनो साथी उसे बचाने के लिए नहर में उतर पड़े। सुदीप ने पतवार पकड़ ली जिस कारण वह तो बच गया, लेकिन निखिल, करण व सौरभ डूब गए। इसके बाद घटना की जानकारी पाकर मौके पर पुलिस पहुंची थी।

पुलिस व एनडीआरएफ की टीम ने 18 किमी तक शवों की तलाश की थी, लेकिन डूबे छात्रों का कुछ पता नही चल सका था। तेज बारिश और रात के अंधेरे के चलते सर्च आपरेशन रोकना पड़ा था। इसके बाद शानिवार को पुलिस व एनडीआरएफ की टीम ने तलाश शुरू की तो एक छात्र सौरभ का शव बरामद हुआ था। डूबे छात्रों की तलाश के समय एसडीएम मोहनलालगंज संतोष कुमार सिंह भी मौजूद थे। रविवार को छात्र करन व निखिल के शव खुर्दहि पुल के पास से बरामद किए है।

परिजनों ने शवों के पोस्टमार्टम न कराने का किया आग्रह

गोसाईगंज में इंदिरा नहर में डूबे छात्रों के शव दो दिन तक पानी में होने के चलते शव पूरी तरह सड़ गया है। जिसे देकर उनके परिजन मौके पर ही बेहोश हो गए, जिन्हें किसी तरह ढाढस बधा उनके बच्चों के शवों को दिखाया गया। मृतक बच्चों के परिजनों ने पुलिस से शवों का पोस्टमार्टम न कराने का अनुरोध किया। इसके पीछे उनका तर्क था कि, मासूमों के शव पहले से ही पूरी तरह खराब हो गए है, जिसके बाद पोस्टमार्टम में शव को और अधिक चीर-फाड़ दिया जायेगा।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top