Top

मां के प्रेमी को बेटे ने उतारा मौत के घाट, बोला- बदनामी की वजह से करना पड़ा ऐसा

मां के प्रेमी को बेटे ने उतारा मौत के घाट, बोला- बदनामी की वजह से करना पड़ा ऐसाहत्याकांड का खुलासा करती बाराबंकी पुलिस

बाराबंकी। उत्तर प्रदेश के बाराबंकी जिले में घर में हुई सुपरवाइजर की हत्या का खुलासा पुलिस ने किया। पुलिस की गिरिफ्त में आये युवक ने अपना जुर्म कबूलते हुए बताया कि उसने ही 8 दिसंबर की रात को चाकुओं से गोद कर नरेंद्र सिंह की हत्या की थी।

बाराबंकी जिले के गांधी नगर के हड्डी गंज में 8 दिसंबर को हुई युवक की हत्या का पुलिस ने खुलासा कर दिया। पुलिस ने बताया कि युवक की हत्या उसके सौतेले बेटे ने की थी। क्योंकि मृतक 6 साल पहले उसकी मां को लेकर भाग गया था। इस वजह से उसकी गाँव में बदनामी होती थी। पुलिस ने आरोपी बेटे को गिरफ्तार कर लिया है और हत्या में इस्तमाल चाकू भी बरामद कर लिया है।

ये है मामला

पुलिस छानबीन में पता चला कि मृतक नरेंद्र सिंह जौनपुर का रहने वाला था। पिछले 6 साल से वह एक महिला के साथ बारांबकी के गांधीनगर में रह रहा था। जिस महिला के साथ मृतक रहता था। वह जौनपुर में अपने पति और बेटे शिव प्रताप और विजय प्रताप के साथ रहती थी। लेकिन 6 साल पहले वह नरेंद्र के साथ अपने घर परिवार को छोड़कर बाराबंकी आ गई थी।

ऐसे बनाई हत्या की योजना

आरोपी बेटे शिवप्रताप ने बताया, "नरेंद्र जब भी गांव आता था तो हम दोनों भाइयों से भी मिलता था और हमेशा डांटता रहता था। मां को भगा ले जाने की वजह से गांव के लोग हमारे परिवार को घृणा की नजर से देखते थे। इस वजह से हम दोनों भाइयों से कोई शादी करने के लिए भी तैयार नहीं होता था। इन सब बातों से आजिज होकर एक दिन उसकी हत्या की योजना बनाई।" शिवप्रताप बताता है, "8 दिसंबर को छोटा भाई विजय मां के घर गया हुआ था, लेकिन वह घर पर नहीं थी। इसके बाद उसने मुझे कॉल करके बुला लिया। शाम 5:30 बजे के करीब मैं खुखरी, चाकू और मिर्च पाउडर लेकर वहां पहुंचा। जब मैं पहुंचा तो नरेंद्र कुछ कर रहा था। मेरे जाते ही वह जैसे पलटा वैसे ही मैंने उसकी आंख में मिर्च पाउडर डाल दिया। इसके बाद चाकू से हमला कर उसकी हत्या कर दी और घटनास्थल से भाग गया।" फिलहाल पुलिस ने आरोपी शिव प्रताप को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

फरार युवक की जल्द होगी गिरफ्तारी

खुलासा करने वाली पुलिस टीम में प्रभारी निरीक्षक थाना कोतवाली नगर दिनेश कुमार सिंह उप निरीक्षक धनीराम वर्मा व आरक्षी माता बदल अजीत सिंह है वही एसपी बाराबंकी अनिल सिंह ने बताया जल्द ही फरार चल रहे उसके दूसरे भाई को भी पुलिस गिरफ्तार कर लेगी।

आठ दिसंबर को हुई थी हत्या

नगर कोतवाली क्षेत्र के अंतर्गत गांधीनगर मोहल्ले में रहने वाले नरेंद्र सिंह की 8 दिसंबर को चाकुओं हत्या कर दी गई थी। पुलिस को नरेंद्र की लाश उसके घर बरामद हुई थी। उसके शरीर पर चाकुओं के 27 निशान मिले थे। साथ ही, जिस चाकू से हत्या की गई थी वो उसके पीठ में घुसा हुआ था। वहीं, हत्या के बाद पड़ोस में रहने वाली एक महिला ने मृतक नरेंद्र के घर से दो युवकों को भागते हुए देखा था।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.