Top

पुलिस ने नहीं सुनी फ़रियाद, न्याय पाने के लिये लिखा योगी को ख़त 

पुलिस ने नहीं सुनी फ़रियाद, न्याय पाने के लिये लिखा योगी को ख़त ख़ाकी से परेशान होकर पीड़ित परिवार ने आत्मदाह करने की ठान ली है।

रहनुमा बेगम, स्वयं कम्युनिटी जर्नलिस्ट

औरैया। योगी सरकार से जहां लोग न्याय की आस लगाए हुए हैं, वहीं ख़ाकी पीड़ित पर ही कहर बरपा रही है। ख़ाकी से परेशान होकर पीड़ित परिवार ने आत्मदाह करने की ठान ली है। से परेशान होकर पीड़ित परिवार ने आत्मदाह करने की ठान ली है। पीड़ित परिवार ने मुख्यमंत्री को पत्र भेजकर न्याय की गुहार लगाई है।

जिला मुख्यालय से 12 किलोमीटर दूर थाना फफूंद क्षेत्र के ग्राम बहादुरपुर निवासी सरजीत सिंह पुत्र श्रीकृष्ण ने बताया कि उसके चाचा अयोध्या प्रसाद दरोगा हैं, जो उन्नाव थाने में तैनात हैं। वह अपने पिता श्रीकृष्ण, मां रमाकान्ती और बहन कु. प्रदीपका के साथ रहता है।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

उसकी जमीन पर चाचा के घर के लोग कब्जा कर रहे हैं, जिसका विरोध करने पर अयोध्या प्रसाद, मिजाजी लाल पुत्र द्वारिका प्रसाद, ममता देवी पत्नी मिजाजी लाल, रामदास पुत्र द्वारिका प्रसाद, मोनू-सोनू पुत्रगण रामदास ने मां, बहन और पिता को मारपीट कर घायल कर दिया। जब अपने परिजनों के साथ शिकायत करने थाने पहुंचा तो पुलिस ने उसकी एक भी नहीं सुनी। जब वह पुनः शिकायत लेकर पहुंचा तो उसके पिता को शांतिभंग के आरोप में जेल भेज दिया। वह न्याय पाने के लिए दर-दर भटक रहा है। श्रीकृष्ण ने बताया, “अगर हमें न्याय न मिला तो परिवार के साथ आत्मदाह कर लूंगा।”

पीड़ित ने न्याय पाने के लिए योगी आदित्यनाथ को शिकायती पत्र भेजकर कार्रवाई किए जाने की मांग की है। वहीं थानाध्यक्ष अनिल पाण्डेय का कहना है, “दोनों परिवारों के बीच जमीन को लेकर विवाद है। मुकदमा दर्ज करने का आदेश दे दिया गया है।”

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.