तबादला नीति के विरुद्ध तैनात पुलिस अफसरों की होगी बदली

तबादला नीति के विरुद्ध तैनात पुलिस अफसरों की होगी बदलीडीजीपी सुलखान सिंह।

लखनऊ। यूपी के डीजीपी सुलखान सिंह की अध्यक्षता में सोमवार दोपहर मुख्यालय पर एक बैठक का आयोजन किया गया। इसमें मुख्यालय में नियुक्त समस्त अपर पुलिस महानिदेशक, पुलिस महानिरीक्षक, अपर पुलिस महानिदेशक, अभिसूचना एवं जोनल अपर पुलिस महानिदेशक/पुलिस महानिरीक्षक सम्मिलित हुए। बैठक में डीजीपी सुलखान सिंह ने अधिकारियों की लचर कानून-व्यवस्था पर जमकर क्लास लगाई और साथ ही कई दिशा निर्देश जारी किए।

निम्नलिखित निर्देशों का जल्द हो पालन-डीजीपी, सुलखान सिंह

  • पुलिस अधिकारी जो स्थानान्तरण नीति के विरुद्ध जनपदों में तैनात हैं, उन्हें तत्काल हटाकर नियमानुसार नये अधिकारियों को तैनात किया जाये।
  • लम्बे समय से एक ही क्षेत्र/रेन्ज/जोन में तैनात उप निरीक्षक/निरीक्षक को कही दूर तैनात किया जाये।
  • अपराधों में शामिल या अपराधियों से सम्बन्ध रखने वाले पुलिस कर्मियों के विरूद्ध सख्त कार्रवाई की जाये।
  • जनपदों/जीआरपी में सट्टा, जुआ तथा अवैध शराब के विरूद्ध सघन अभियान चलाकर रोक लगाई जाये।
  • सार्वजनिक स्थानों एवं सड़कों पर यातायात अनुशासन तत्काल सुनिश्चित किया जाये।
  • गलत नम्बर प्लेट, हूटर-सायरन, लाल-नीली बत्तियां, झण्डे, तख्तियां इत्यादि लगाने पर रोक लगाई जाये। सीट बेल्ट लगाना, हेलमेट पहनना सुनिश्चित किया जाये। साथ ही वाहनों से काली फिल्में हटवायी जायें।

ये भी पढ़ें-बातें गांधी की करेंगे और काम नेहरू का, तो किसान तो मरेगा ही

  • यातायात पुलिस चुस्त-दुरूस्त, स्मार्ट वर्दी में रहे। यातायात पुलिस द्वारा वाहनों से पैसा वसूली पर तत्काल रोक लगाई जाये।
  • किसी भी चौराहों से 25 मीटर तक किसी तरह के ठेले/वाहन इत्यादि खड़े न होने दिये जायें।
    माफिया एवं अन्य प्रभावशाली अपराधियों की सूची बनाकर उनके विरूद्ध सख्त वैधानिक कार्यवाही की जाये।
  • जमानत पर छूटे हुए माफिया और गिरोहबन्द अपराधियों की जमानतें निरस्त करायी जायें।बाजारों, मॉल्स, सार्वजनिक स्थानों, पार्कों इत्यादि में सादी वर्दी में महिला एवं पुलिस अधिकारियों के स्क्वाड तैनात किये जाय, महिला/लड़कियों से छेड़छाड़ रोकने व अन्य संदिग्ध गतिविधि में लिप्त लोगों के विरूद्ध कार्यवाही करे।
  • अवैध रूप से जमीनों पर कब्जा करने वालों की सूची बनायी जाये। बीते पांच वर्षों में जमीनों/प्लाटों पर कब्जा करने वालों की सूची बनाकर उनके विरूद्ध सख्त कार्यवाही की जाये ।
    कम्युनिटी पुलिसिंग पर जोर दें। अधिकारी जन सहयोग प्राप्त करें। जनता से जन सम्पर्क तेज किया जाये।
  • गोवध एवं गोवध के लिए गोवंश के परिवहन पर सख्ती से रोक लगायी जाये। ऐसे अपराधियों के विरूद्ध राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम/गिरोहबन्द अधिनियम के अन्तर्गत कार्यवाही की जाये।
    नोएडा एवं गाजियाबाद के जनपदों की पुलिसिंग सीमावर्ती दिल्ली से बेहतर बनायी जाये।

Share it
Top