एटा: पोल नंबर बताएगा कहां खराब हुई बिजली

एटा: पोल नंबर बताएगा कहां खराब हुई बिजलीविद्युत वितरण निगम लिमिटेड शहरी क्षेत्र के विद्युत पोलों को यूनिक नंबर देने जा रहा है।

गाँव कनेक्शन संवाददाता

एटा। अब तार टूटने, विद्युत पोल में करंट आने या ट्रांसफार्मर खराब होने की शिकायत करने के दौरान उपभोक्ताओं को ज्यादा माथापच्ची नहीं करनी पड़ेगी, विद्युतकर्मी मौके पर तुरंत पहुंच सकेंगे। इन शिकायतों के निपटारे के लिए विद्युत वितरण निगम लिमिटेड शहरी क्षेत्र के विद्युत पोलों को यूनिक नंबर देने जा रहा है।

गाँव से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

हर पोल पर विद्युत नंबर के साथ फीडर का संक्षिप्त नंबर दिया जाएगा। जिसके बाद संबंधित फीडर की बिजली बंद करके करंट बंद किया जाएगा और टीम भी मौके पर पहुंच सकेगी। अक्सर विद्युत पोल में करंट आने, तार टूटने से करंट फैलने और ट्रांसफार्मर की खराबी की शिकायतें निगम को मिलती हैं। निगम के कर्मचारी क्षेत्र का नाम जानने के बाद उपभोक्ताओं से पोल, फीडर और मौके के बारे में गहन पूछताछ करते हैं। उपभोक्ता इतनी ज्यादा जानकारी नहीं दे पाता और संबंधित क्षेत्र की बिजली आपूर्ति बंद नहीं हो पाती है।

निगम के पास शहरी क्षेत्र के हर पोल तक पहुंचने का नक्शा है। पोल नंबर और फीडर का नाम लिखने के बाद मुश्किल कम हो जाएगी। पहले चरण में शहरी क्षेत्र के ट्रांसफार्मर वाले 500 पोल पर लिखाई का काम होगा।
राजीव चतुर्वेदी, अधिशासी अभियंता, शहरी विद्युत

इससे हादसे होते हैं और निगम की टीम को मौके पर पहुंचने में दिक्कत होती है। अब विद्युत निगम शहरी क्षेत्र में इस व्यवस्था के लिए नया प्रयोग करने जा रहा है। निगम शहरी क्षेत्र में लगे 4600 विद्युत पोल पर नंबर और फीडर का नाम लिखवाएगा। जिसके बाद शिकायतकर्ता को केवल कंट्रोल रूम पर पोल नंबर और उस पर लिखे संक्षिप्त नाम को बताना होगा और तुरंत संबंधित क्षेत्र की बिजली आपूर्ति ठप करके टीम को भेजा जाएगा।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top