कन्नौज: पात्र प्रधानमंत्री आवास से वंचित, कच्चे मकान में रहने को मजबूर

कन्नौज: पात्र प्रधानमंत्री आवास से वंचित, कच्चे मकान में रहने को मजबूरप्रधानमंत्री आवास योजना।

कन्नौज। एक तरफ सरकार प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत कच्चे घरों में रहने वालों को पक्का आवास मुहैया कराने के दावे कर रही है, वहीं कन्नौज शहर के पालिका क्षेत्र में तमाम ऐसे लोग हैं, जो आज भी कच्चे मकानों में रहने को मजबूर हैं। बीते दिनों घर गिरने से एक नौनिहाल की मौत हो गई।

शहर में बसे मोहल्ला दीदारगंज में चार साल के मासूम ने कच्चे घर की दीवार गिरने से दम तोड़ दिया। मोहल्ले के मोहम्मद हासिम बताते हैं, ‘‘सुबह करीब नौ बजे मेरा बच्चा मोहम्मद हसीब (04 वर्ष) चाय पीकर खेल रहा था। मिट्टी की दीवार उस पर गिर पड़ी, जिससे उसकी मौत हो गई। तीन बेटियों के बीच वह इकलौता पुत्र था।’’

ये भी पढ़े- जानिए कैसे मिलेगा पं. दीन दयाल मुफ़्त आवास योजना का लाभ

किसी भी सरकारी योजना का नहीं मिला लाभ

मोहम्मद हासिम आगे बताते हैं, ‘‘हम लोग मजदूरी करते हैं। यहां की महिलाएं अगरबत्ती बनाती हैं। यहां किसी भी सरकारी योजना का लाभ नहीं मिला है। करीब 20 परिवार के सौ लोग कच्चे घरों में रहते हैं।’’

आसिफ अली (26 वर्ष) कहते हैं, ‘‘हम लोग मजदूरी करके अपने परिवारों का पालन-पोषण करते हैं। महिलाएं आठ रुपए किलो के हिसाब से अगरबत्ती बनाती हैं। अगर तौल में कम हो जाएं तो अपने पास से देना पड़ता है।’जाहिद (40 वर्ष) कहते हैं, ‘‘पीढ़ियां गुजर गई हैं यहां रहते-रहते। पापा, बाबा ,उनके बाबा तक इसी कच्चे घरों में रहते थे। योजना का लाभ नहीं मिला, जिससे पक्के मकान में रहते या कॉलोनी मिलती।”

ये भी पढ़े- कर्जमाफी योजना का असल मुद्दा : जिन्होंने समय पर चुकाया कर्ज, उन्हीं ने उठाया नुकसान

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Share it
Share it
Top