कन्नौज के एक पेट्रोलपंप से एक्स्ट्रा वायरिंग निकली, नोजल सीज

कन्नौज के एक पेट्रोलपंप से एक्स्ट्रा वायरिंग निकली, नोजल सीजकन्नौज में पेट्रोल पंप की जांच करते अधिकारी।

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

कन्नौज। पेट्रोल पंपों की जांच के तीसरे दिन एक और पंप पर डीजल का नोजल सील कर दिया गया। जांच में यहां पर अतिरिक्त वायरिंग मिली है। शुक्रवार सुबह एसडीएम सदर डॉ. अरुण कुमार सिंह, डीएसओ एसके सिंह, डीएमडब्ल्यूओ पवन कुमार सिंह व पूर्ति निरीक्षक चक्रपाणि मिश्र समेत बाहर से आई टीम पेट्रोल पंपों की जांच के लिए जीटी रोड पहुंची। तिर्वा क्रासिंग के निकट स्थित बीएम मोटर्स पेट्रोल पर सभी नोजल की गहनता से जांच हुई। डीएसओ एसके सिंह ने बताया कि ‘‘घटतौली का मामला नहीं है। अतिरिक्त वायरिंग मशीन में निकली है। उसे सील कर दिया है। रिपोर्ट अफसरों को दी जा रही है। जो आदेश होगा, उसी के हिसाब से कार्रवाई की जाएगी।’’

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

एसडीएम डाक्टर अरुण कुमार सिंह ने बताया कि ‘‘एक्स्ट्रा डिवाइस निकली है, इस वजह से डीजल का नोजल सील हुआ है। डीएम साहब को इसकी जानकारी दी जाएगी।’’ इंडियन ऑयल लखनऊ से आए सेल्स अधिकारी अनुज कुमार ने बताया कि ‘‘जांच कराई जाएगी कि अतिरिक्त प्लेट क्यों लगी थी। इसके बाद ही वह कुछ कह सकते हैं। हो सकता है कि पुरानी मषीन की वजह से अतिरिक्त प्लेट लगी होगा या कोई अन्य कारण हो सकता है।’’

शुल्क न लेने की मांग उठी

यूपी पेट्रोलियम ट्रेडर्स एसोसिएशन ने डीएम जगदीश प्रसाद से मुलाकात कर एक ज्ञापन सौंपा। इसमें एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष विजय द्विवेदी ने हवाला दिया है कि एक नोजल की जांच में 1875 रुपए फीसद ली जा रही है। यह शुल्क पंप मालिकों से न लिया जाए।

ये भी पढ़ें: जनता ने पेट्रोल पंपों पर छापेमारी के फैसले को सही, हड़ताल को गलत ठहराया

उन्होंने बताया कि अगर किसी के पंप पर 10 नोजल हैं तो 18 हजार से अधिक का खर्च आएगा, जिसे पंप मालिकों को ही वहन करना पड़ेगा। जिलाध्यक्ष ने आगे बताया कि ‘‘जांच के दौरान भारी पुलिस फोर्स भी रहता है, जिससे कर्मचारी भयभीत हो जाते हैं। इससे कामकाज भी प्रभावित रहता है।’’

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top