यूपी की सौ महिला प्रधानों को मिलेगा रानी लक्ष्मीबाई वीरता पुरस्कार 

यूपी की सौ महिला प्रधानों को मिलेगा रानी लक्ष्मीबाई वीरता पुरस्कार रानी लक्ष्मीबाई वीरता पुरस्कार के लिए प्रमुख सचिव ने जिलों से मांगी सूची 

इस बार अंतर्रष्ट्रीय महिला दिवस पर उत्तर प्रदेश की 100 महिला ग्राम प्रधानों को रानी लक्ष्मीबाई वीरता पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा। प्रमुख सचिव महिला एवं बाल विकास ने जिलों से सूची मांगी है।

प्रमुख सचिव रेणुका कुमार ने सूबे के सभी जिलाधिकारी को भेजे पत्र में कहा है, ‘‘वर्ष 2017-18 के लिए विशिष्ट उल्लेखनीय कार्य करने वाली महिलाओं एवं बालिकाओं को आठ मार्च को रानी लक्ष्मीबाई वीरता पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा। पंचायत राज विभाग की ओर से संचालित योजनाओं में सक्रिय भूमिका के साथ बेहतर उपलब्धि हासिल करने वाली 100 महिला ग्राम प्रधानों को पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा।’’

ये भी पढ़ें- संसद तक पहुंच गई है ये बात कि महिला प्रधान के पति व बेटे करते हैं कामकाज में हस्तक्षेप

जिला प्रोबेशन अधिकारी कन्नौज अश्वनी त्रिपाठी बताते हैं, ‘‘दो महिला उप निरीक्षक/हेड कान्स्टेबल जिन्होंने उच्च कोटि के शौर्य तथा पराक्रम कार्य किए हों, उनको भी सम्मानित किया जाएगा। सार्वजनिक क्षेत्र में आठ बालिकाओं/महिलाओं को, जिनके द्वारा आत्मरक्षा या दूसरे की रक्षा के लिए वीरतापूर्वक कार्य किया गया हो, जिनके द्वारा जीवन रक्षा हेतु अदम्य साहस एवं वीरता पूर्ण कार्य किया गया हो, को सम्मानित किया जाएगा।’’

ये भी पढ़ें- इस महिला प्रधान ने बदल दी अपने गाँव की तस्वीर 

जिला प्रोबेशन अधिकारी आगे बताते हैं, ‘‘इसी तरह भ्रूण हत्या रोकने के लिए उल्लेखनीय कार्य करने वाली एक महिला डॉक्टर, महिला सशक्तिकरण, प्रसव, भ्रूण हत्या रोकने के लिए विशेष प्रयास करने वाली एक आशा बहू, बेसिक षिक्षा विभाग की एक षिक्षिका जिसने महिला सशक्तिकरण और अध्यापन का कार्य अच्छा किया हो, को सम्मानित किया जाएगा।’’

संरक्षण अधिकारी विजय कुमार राठौर बताते हैं, ‘‘स्वयं सहायता समूहों के तहत उल्लेखनीय कार्य करने वाली एक महिला को भी वीरता पुरस्कार दिया जाएगा। इसमें कम से कम पांच साल तक समूह का संचालन किया हो और स्वरोजगार के अवसर दिलाने के लिए समाज की मुख्य धारा में महिलाओं को जोड़ने के लिए विशिष्ट कार्य किया हो।’’

ये भी पढ़ें- देश की सबसे कम उम्र की युवा महिला प्रधान, जिसने बदल दी अपने गाँव की सूरत

विभाग में तीन आवेदन आ गए हैं। निर्धारित प्रोफार्मा पर जिला संचालन समिति की संस्तुति पर नाम उच्चाधिकारियों को भेजे जाएंगे। समिति में मुझे नोडल बनाया गया है। जिलाधिकारी महोदय अध्यक्ष हैं। आवेदन के साथ ही 100 शब्दों में उल्लेखनीय कार्य प्रपत्र पर लिखा शामिल होगा।
अश्वनी त्रिपाठी, जिला प्रोबेशन अधिकारी, कन्नौज

बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार विभाग के तहत काम करने वाली दो आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को भी इसमें शामिल किया जाएगा। पिछले साल प्रदेष में महिला प्रधानों को सम्मानित करने की संख्या सिर्फ 20 थी। इस बार बढ़ाकर 100 कर दी गई है।

ये भी पढ़ें- महिला प्रधान ने पति के साथ मिलकर बदल दी सरकारी स्कूल की सूरत 

उन्होंने आगे बताया कि ‘‘पत्र में महिला कल्याण विभाग की ओर से संचालित विभिन्न राजकीय गृहों में आवासीय संवासियों में से अच्छा काम करने वाली तीन संवासिनियों को भी पुरस्कार दिया जाएगा।’’

ये भी देखिए:

Share it
Top