आजमगढ़ की ये तस्वीरें शराब कांड की जमीनी हकीकत बताती हैं

Ashutosh OjhaAshutosh Ojha   9 July 2017 11:09 PM GMT

आजमगढ़ की ये तस्वीरें शराब कांड की जमीनी हकीकत बताती हैंये तस्वीरें आपको वास्तविकता से रू-ब-रू कराएंगी। (सभी फोटो-शुभम कौल)

आजमगढ़ । आजमगढ़ जिले से 50 किमी दूर सगड़ी तहसील के एक गांव में शुक्रवार को जहरीली शराब पीने से 9 लोगों की मौत हो गयी। मौतों की संख्या बढ़कर अब 11 हो चुकी है। जबकि जिले में अबतक 18 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं।

ये भी पढ़ें- आजमगढ़ की हकीकत : इन गांवों में चूल्हे पर एक तरफ खाना तो दूसरी ओर बनती थी शराब

हमारे रिपोर्टर जब सगड़ी तहसील के गांव रौनापुर थानाक्षेत्र के केवटिहया पहुंचे (इस गांव में अब तक 11 मौते हो चुकी हैं) तो जमीनी हकीकत चौंकाने वाले थो। गांव के लगभग हर घर में अवैध रूप से शराब बनाया जाता था। लोगों से जब बात की गई तो उन्होंने बताया कि उनके पास इसके अलावा कोई रोजगार ही नहीं है। हालात तो ये हैं कि गरीबी रेखा के नीचे जीवनयापन करने वालों के राशन कार्ड तक नहीं बने हैं। एक तरो रोजगार न होना और सरकारी योजनाओं का लाभ न मिलना अवैध शराब कारोबार को ओर लोगों को ढकेल रहा है।

ये भी पढ़ें- आजमगढ़ : शराब से मौत मामले में आठ गिरफ्तार, एक हजार लीटर शराब जब्त

आजमगढ़ जिले का मुख्य ऑफिस जहां से पूरे आजमगढ़ के गाँव को राशन कार्ड की सूची बनाई जाती है वहां की तस्वीर आपको प्रशासन की क्रियाकलापों से अवगत करा देगा। 2900 आबादी वाले केवटिहया में ज्यादातर लोगों का राशन कार्ड नहीं बना है। स्थानीय निवासी विमलेश बटेर ने बताया कि वे राशन कार्ड के लिए 4 साल से भटक रहे हैं। अभी तक बना नहीं, लोग जुगाड़ लगाकर ज्यादा राशन कार्ड बनवा लेते हैं। तस्वीरों में देखिए, आजमगढ़ के अद्वान और खाद्व प्रसंस्करण विभाग की दयनीय स्थित

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top