मानसून से राहत तो मिली लेकिन बढ़ गईं परेशानियां

Ashwani DwivediAshwani Dwivedi   2 July 2017 8:30 PM GMT

मानसून से राहत तो मिली लेकिन बढ़ गईं परेशानियांलखनऊ में भर गया है पानी।

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में मानसून आने की खुशी पर मानसून में होने वाली परेशानियां हमेशा भारी पड़ जाती है, एक तरफ शहर में हुई झमाझम बारिश से लोगों के चेहरे पर सुकून नजर आया। वहीं हमेशा की तरह एक बार फिर नगर निगम, लखनऊ विकास प्राधिकरण, लोक निर्माण बिभाग सहित मानसून के मद्देनजर हुई सरकारी तैयारी की हकीकत बयान कर दी।

कुछ ऐसे नजर आयीँ लखनऊ की सड़कें

पिछले दो दिनों में लखनऊ शहर में जम कर बारिश हुई ,बारिश के कारण जानकीपुरम विस्तार,सहारा स्टेट रोड, रिंग रोड की सर्विस लेन, निशात गंज, छन्नी लाल चौराहे वाली रोड ,हाथी पार्क के डालीगंज के सामने वाली रोड तालाब के रूप में तब्दील हो गयी। सैकड़ों दो पहिया व चार पहिया वाहन, स्कूली वाहन, एम्बुलेंस भी जल भराव में घण्टों तक फांसी रही।

जानकी पुरम निवासी एलआईसी में विकास अधिकारी रमेश चंद्र पांडेय ने बताया कि सेक्टर एच वालि डिवाइडर रोड हर साल बारिश में तालाब हो जाती है, इस रोड पर दोनों तरफ बने दर्जनों मकानों के निवासियों का वाहर निकलना मुश्किल हो जाता है लखनऊ विकास प्राधिकरण द्वारा ये कालोनी प्लान की गई थी। एलडीए के अभियंताओं की काबिलियत यहा आकर कोई भी देख सकता है हर साल बारिश में ये समस्या आती है, इस सड़क पर चार पहिया वाहन तक डूब जाते है लेकिन एलडीए कभी इस समस्या की गंभीरता से नही लेता ।

लखनऊ में हुए जलभराव में जगह जगह चार पहिया वाहन धुंआ दे गए वहीं, लोग बाइक, स्कूटी में धक्का देते हुए दिखे। अलीगंज निवासी अनुराधा साहनी बच्चों को लेने स्कूटी से निकली थी जानकी पुरम में आइकॉन अस्पताल के सामने जलभराव में स्कूटी बन्द हो गयी। सरकार और व्यवस्था को कोसते हुए अनुराधा ने कहा कि इस रोड पर हर साल पानी भर जाता है, हजारों राहगीर परेशान होते हैं, लेकिन आज तक एलडीए ने इस समस्या पर ध्यान नहीं दिया औऱ न ही इतनी बडी जनसमस्या सरकार को दिखती है। अब बच्चों और इस बंद हुई स्कूटी को कैसे घर ले जाऊं ।

लखनऊ के कार्यवाहक मेयर सुरेश चंद्र अवस्थी ने बताया, “रिंग रोड से जानकी पुरम जाने वाली तीनों डिवाइडर रोड हर साल बारिश में जलमग्न हो जाती है, अब तक ये जनसमस्या जिससे हजारों लोग प्रभावित होते हैं। इसका निराकरण नहीं हो पाया आज मैंने खुद मौके पर जाकर निरीक्षण किया है और कल सारे संबंधित अधिकारियों को तलब किया है। इस पर ठोस कार्यवाही होगी और प्रयास है कि अगली बारिश में यहां जलभराव न हो।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिएयहांक्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top