महिला कल्याण प्रदेश सरकार की प्राथमिकता - रीता बहुगुणा जोशी 

महिला कल्याण प्रदेश सरकार की प्राथमिकता - रीता बहुगुणा जोशी महिला कल्याण मंत्री प्रो. रीता बहुगुणा जोशी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की महिला कल्याण मंत्री प्रो0 रीता बहुगुणा जोशी ने कहा है कि महिला कल्याण से सम्बन्धित कार्यक्रमों को शीर्ष प्राथमिकता से लागू किया जाय और महिला आश्रय केन्द्रों की सफाई की व्यवस्था सुनिश्चित की जाय।

ये भी पढ़े- बीजेपी मुख्यालय में मचा हड़कंप, पुलिस के छूटे पसीने

श्रीमती जोशी आज योजना भवन स्थित सभागार में विभागीय अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक कर रही थी। उन्होंने कहा कि जिन जनपदों में महिला समाख्या चल रही है, वहां के अधिकारी महिला समाख्या से समन्वय स्थापित कर महिला कल्याण से सम्बन्धित कार्यक्रमों को आगे बढ़ायें। महिला कल्याण मंत्री ने अधिकारियों का आह्वाहन किया कि वह गैर सरकारी संगठनों का सहयोग लेकर महिला उत्थान कार्यक्रम को दिशा दें।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

बाल गृहों में गंदगी पाये जाने पर अधिकारियों को महिला कल्याण मंत्री ने फटकार भी लगायी। उन्होंने शौचालय व्यवस्था को ठीक करने के निर्देश दिए। जोशी ने महिला हिंसा पर गंभीर चिंता प्रकट की। उन्होंने कहा कि महिला हिंसा पर रोकथाम होनी चाहिए। जनपद के अधिकारियों को इसमें हस्तक्षेप कर इसे रोकना होगा, मात्र पुलिस के सहारे ही नहीं रहना होगा।

ये भी पढ़े- चुनाव आयोग ने किया ऐलान, राष्ट्रपति चुनाव की सरगर्मी तेज, जानिये इस बार क्या है ख़ास

महिला कल्याण मंत्री ने ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओं’अभियान चलाने पर विशेष बल दिया। इससे पूर्व विभाग की प्रमुख सचिव रेणुका कुमार ने गांव स्तर पर गरीब बच्चों के जीवन स्तर को ऊँचा उठाने पर विशेष जोर दिया। उन्होंने कहा कि अनाथ बच्चों के पालन पोषण का ध्यान रखा जाय। इस पुनीत सामाजिक कार्य में महिला समाख्या सहित समस्त गैर सरकारी संगठनों का सहयोग लेकर महिला कल्याण एवं बाल विकास कार्यक्रमों को आगे बढ़ाया जाय।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top