मलिहाबाद में राशन न मिलने से ग्रामीण परेशान

मलिहाबाद में राशन न मिलने से ग्रामीण परेशानकोटेदार की मनमानी के चलते गरीबों को राशन नहीं मिल पा रहा है। 

रामू गौतम ,स्वयं कम्युनिटी जर्नलिस्ट

लखनऊ। कोटेदार की मनमानी के चलते गरीबों को गेहूं, चावल तथा मिट्टी का तेल नहीं मिल पा रहा है। इससे ग्रामीणों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। ग्रामीणों ने इसकी शिकायत उच्चधिकारियों से की है।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

लखनऊ जनपद के विकास खण्ड मलिहाबाद की ग्राम पंचायत कैथूलिया के रहने वाले ग्रामीण प्रीती (35 वर्ष) बताती हैं, “मार्च से कोटेदार ने न गेहूं, चावल दिया है और न ही मिट्टी का तेल दिया है।” इसी गाँव की गुड़िया (32 वर्ष) बताती हैं, “जब भी कोटेदार के यहां जाओ तो बहाना बनाते हैं कि अभी राशन आया ही नहीं और मजबूरी में खाली हाथ लौटना पड़ता है।”

इस संबध में मुझे अभी कोई शिकायत नहीं मिली है। शिकायत मिलने पर कार्रवाई की जाएगी।
नीलम यादव, उप जिलाधिकारी, मलिहाबाद

रामश्री (36 वर्ष) पत्नी धनीराम कहती हैं, “कोटेदार जो कहते हैं मानना पड़ता है और हम लोग उनका कर ही क्या सकते हैं।” गाँव की पिंकी (25 वर्ष) का कहना है, “कोटेदार द्वारा राशन बाजार में बेच दिया जाता है और ग्रामीणों को सरकार से राशन न मिलने का बहाना बताते रहते हैं।”

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Share it
Share it
Top