सहारनपुर : महापंचायत को लेकर कई इलाकों में बवाल, वाहनों को किया आग के हवाले, भीड़ ने पुलिस चौकी फूंकी

सहारनपुर : महापंचायत को लेकर कई इलाकों में बवाल, वाहनों को किया आग के हवाले, भीड़ ने पुलिस चौकी फूंकीसहारनुर में महापंचायत को लेकर जिले के कई इलाकों में पथराव।

सहारनपुर। उत्तर प्रदेश के सहारनपुर जिले में मंगलवार को फिर से ग्राम शब्बीरपुर और सड़क दूधली के संबंध में होने वाली महापंचायत को लेकर जिले के कई इलाकों में पथराव, आगजनी और गोलीबारी हुई और 20 से अधिक वाहनों को आग के हवाले कर दिया गया्र। उपद्रवियों ने एक पुलिस चौकी में भी आग लगा दी। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सुभाष चंद दूबे ने बताया कि किसी भी तरह की महापंचायत करने की अनुमति नहीं दी गई थी।

एक पार्टी के पदाधिकारियों ने सहारनपुर के गांधी पार्क में संगठनों से जुड़े लोगों को वहां इकट्ठा कर लिया। इनका आरोप था कि प्रशासन द्वारा शब्बीरपुर के पीड़ितों को न तो मुआवजा दिया गया न ही पीड़ित लोगों के पास कुछ खाने पीने की व्यवस्था है। पार्टी के आह्वान पर जब लोग गांधी पार्क में एकत्र होने लगे तो पुलिस ने इन्हें वहां से खदेड़ दिया जिससे पुलिस और उन लोगों के बीचटकराव हुआ और एक बार वहां भगदड़ का माहौल बन गया।

ये भी पढ़ें- सहारनपुर जिले का कंपनी बाग किसानों के लिए बनेगा प्रशिक्षण केंद्र, नई तकनीकों की दी जाएगी जानकारी

पुलिस और दलितों के बीच टकराव की जानकारी मिलते ही जिले के कई इलाकों के लोगों ने आक्रोश में मल्हीपुर रोड पर मोर्चा लेते हुए राहगीरों से मारपीट और वाहनों में आग लगाना शुरू कर दिया। मीडिया के वाहनों को भी उपद्रवियों ने निशाना बनाया और लोगों को पीटा और वाहनों को आग के हवाले कर दिया। सूचना मिलते ही पुलिस और प्रशासन के आलाधिकारी सहित कई थानों की पुलिस एवं पीएसी की टीम मौके पर पहुंची। उपद्रवियों ने पुलिस दल पर पथराव किया और वाहनों को आग के हवाले कर दिया, वहां एक पुलिस चौकी में आग लगा दी।

कई वाहनों को आग लगा दी गई।

इसके अलावा चिलकाना रोड पर हलालपुर के निकट बड़ी नहर के पास कूड़े के ढेर में आग लगा दी गई। बेहट रोड पर साइर्ंधाम मन्दिर के पास एक बस की सवारियों को नीचे उतारकर दलितों ने बस में आग लगा दी। चकरोता रोड पर नाजिरपुरा के पास दलितों ने सड़क पर जाम लगा दिया। उपद्रवियों ने मल्हीपुर रोड पर ठाकुर समाज द्वारा बनाए गए राजपूत भवन को भी आग के हवाले कर दिया। इनकी भीड़ ने पूरे भवन की दीवारों और गेट को तोड़कर वहां रखे सामान को आग के हवाले किया। जिले के कई इलाकों में अभी भी स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है और वहां भारी मात्रा में पुलिस बल तैनात है। पुलिस के उच्च अधिकारी मौके पर निगाह रखे हुए हैं।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top