साइकिल ट्रैक ध्वस्त करना बीजेपी को भारी पड़ेगा: सपा

साइकिल ट्रैक ध्वस्त करना बीजेपी को भारी पड़ेगा: सपालखनऊ में साइकिल ट्रैक

लखनऊ। सपा अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने प्रदेश सरकार को विकास विरोधी बताते हुए साइकिल ट्रैक को ध्वस्त करने पर बर्दाश्त न करने की बात कही। अखिलेश ने आज कहा कि भाजपा सरकार का विकास विरोधी चरित्र उजागर होता जा रहा है। समाजवादी सरकार ने विकास के जो नए मानक तैयार किए थे उनको एक-एक कर नष्ट करना ही भाजपा सरकार ने अपना ध्येय बना लिया है।

अखिलेश ने आगे कहा कि साइकिल ट्रैक ध्वस्त करना भी उसके मुख्य एजेंडा में शामिल हो गया है, लेकिन सपा इसे बर्दाश्त नहीं करेगी। उन्होंने कहा कि समाजवादी सरकार के समय के विकास कार्यक्रमों में पलीता लगाना ही भाजपा सरकार का एकमात्र संकल्प है। अखिलेश यादव ने कहा है कि अगली बार समाजवादी सरकार बनने पर साइकिल यात्री की किसी दुर्घटना में मुत्यु होने पर मृतक आश्रित को 10 लाख रुपए का मुआवजा दिया जाएगा। साइकिल से पर्यटन को बल दिया जाएगा। समाजवादी सरकार में साइकिल यात्रा को और ज्यादा प्रोत्साहित किया जाएगा। साइकिल ट्रैक का भी विस्तार होगा।

पढ़ें: अच्छी खबर: इग्नू में अब पढ़ सकेंगे ट्रांसजेंडर भी

उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार साइकिल ट्रैक को ध्वस्त करके एक गलत निर्णय करेगी जिससे सड़क दुर्घटनाएं बढ़ेंगी। प्रदूषण में वृद्धि होगी। जनसुविधाओं में कटौती होगी। इससे सरकार को निश्चित ही जनविरोध का सामना करना पड़ेगा। भाजपा लोकतंत्र की धज्जियां उड़ा रही है। एक ओर जनहित के विरूद्ध उसके निर्णय हो रहे है दूसरी ओर जनकल्याण की बात की जाती है। यह जनता की आंखो में लाल मिर्च झोंकने जैसा है।

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि समाजवादी सरकार में प्रदेश में पर्यावरण संरक्षण और प्रदूषण से बचाव के लिए साइकिल यात्रा को प्रोत्साहित किया गया था और साइकिल सवारों की सुरक्षा एवं सुविधा के लिए साइकिल ट्रैक का निर्माण हुआ था। साइकिल यात्रा में किसी ईधंन की जरूरत नहीं होती है। साइकिल चलाना स्वास्थ्य, पर्यावरण और अर्थव्यवस्था सबके लिए लाभप्रद है। इससे बढ़ती ट्रैफिक समस्या का भी समाधान हो सकता है। जनता के व्यापक हित में लिए गए इस निर्णय की सराहना विदेशी पर्यटकों ने भी की थी। बच्चों के लिए यह सुरक्षित वॉकिंग ट्रैक भी हैं। विकसित देशों में इसका प्रचलन बढ़ा है।

पढ़ें: जनता से सीधे जुड़ने के लिए फेसबुक, ट्वीटर और इंस्टाग्राम पर आया पराग

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार को यह याद रखना चाहिए कि पेरिस समिट में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी कार्बन उत्सर्जन के प्रदूषण से बचाव के पक्ष में प्रतिबद्धता जाहिर की थी। जब हाल में वे नीदरलैंड यात्रा पर गए थे तो वहां के प्रधानमंत्री ने उन्हें साइकिल भेंट की थी। इसके विपरीत उत्तर प्रदेश में भाजपा सरकार साइकिल को निरूत्साहित करने और साइकिल ट्रैक को तोड़ने को अपनी बड़ी उपलब्धि मान बैठी है।

Share it
Top