लखनऊ में दुकानदार और ग्राहकों ने जीएसटी लागू होने पर जाहिर की खुशी 

Neetu SinghNeetu Singh   2 July 2017 10:13 PM GMT

लखनऊ में  दुकानदार और ग्राहकों ने जीएसटी लागू होने पर जाहिर की खुशी बुटिक की संचालिका राबिया फारुकी

लखनऊ। गुड्स एंड सर्विस टेक्स (जीएसटी) लागू होने के बाद दुकानदारों और ग्राहकों ने खुशी जाहिर की है, लोगों का मानना है जीएसटी लागू होने के बाद तमाम तरह के टैक्सों से छुटकारा मिलेगा, मनमाने दाम नहीं लिए जाएंगे। जीएसटी लागू होने के फायदे समझने में अभी लोगों को वक्त लगेगा क्योंकि इस बारे में अभी लोगों को पूरी तरह से जानकारी नहीं है, लागू होने से पहले अगर जीएसटी पर जागरूकता अभियान चलाया जाता तो लोगों को इसके बारे में पूरी तरह से जानकारी रहती।

गोमतीनगर विपुल खंड दो में स्थित जीवन प्लाजा में एक ही छत के नीचे 50 दुकाने हैं जहां पूरे दिन चहल-पहल रहती है। जीएसटी लागू होने के पहले दिन बाजार में ग्राहक कम जरुर दिखे लेकिन जो भी आये वो खुश दिखे।

ये भी पढ़ें- देश में GST लागू होने पर बाराबंकी में कहीं ख़ुशी तो कहीं गम

विपुलखंड एक में रहने वाली छवि अग्रवाल (63 वर्ष) ने खुश होकर कहा, “जीएसटी लागू होने से हम बहुत खुश हैं क्योंकि हमे कई तरह के टैक्स नहीं देने होंगे, दैनिक दिनचर्या में इस्तेमाल करने वाले सामान सस्ते हैं, हमे हर चीज का बिल मिलेगा।”

उन्होंने आगे कहा,“लोगों में जीएसटी के बारे में पूर्णतया जानकारी नहीं है इसलिए आज बाजार में कम लोग दिख रहे हैं। 15-20 दिन इसे समझने में लगेंगें इसके बाद सब सामान्य हो जाएगा।”नोट्बंदी का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा,“जब नोट्बंदी हुई थी तब भी बाजार में शोर था सब इसे गलत मान रहे थे लेकिन बाद में उसके फायदे समझ में आये, इसी प्रकार गुड्स एंड सर्विस टेक्स लागू हुआ है तो इसका फायदा लोगों को बाद में समझ आएगा।”

गुड्स एंड सर्विस टेक्स के बारे में पूरी जानकारी न होने की वजह से सिर्फ एक ही चर्चा चल रही है चीजें मंहगी हो गयी हैं इसलिए बाजार में कम लोग नजर आये। अपना खुद का उद्योग चला रही शालिनी अग्निहोत्री (32 वर्ष) का कहना है, “इसके लागू होने से कालाबाजारी कम होगी दुकानदार मनमाने दाम नहीं लगा पायेंगे, ग्राहकों को भी संतुष्टि मिलेगी जब उन्हें हर चीज का बिल मिलेगा, हर दिन अच्छी खासी बिक्री होती थी पर आज बारिश की वजह से लोग कम आयें है।”

ये भी पढ़ें- GST : बीएमडब्ल्यू से चलने वाले व्यक्ति और किसानों पर एक जैसा कर

जीवन प्लाजा के अध्यक्ष केशव सरन श्रीवास्तव जीएसटी लागू होने पर बताते हैं, “लोग खुश हैं पर जानकारी का आभाव है अगर लागू करने से पहले दुकानदार और ग्राहक को बैठक करके जागरूक कर दिया जाता तो जीएसटी को लेकर लोग अवेयर रहते, लागू करने के बाद भी अगर जागरूकता अभियान चला दिये जाये तो लोगों को जानकारी मिल जायेगी और वो इसके महत्व को समझ पायेंगे।”

जीएसटी पर जब कई दुकानदार और ग्राहकों से गाँव कनेक्शन संवाददाता ने बात की तो एक ही बात सामने आयी कि ये लागू होना फायदेमंद है लेकिन जीएसटी के बारे में लोगों को प्रापर जानकारी नहीं है इसलिए इसे लागू करने से पहले जागरूकता अभियान चलाया जाता तो बेहतर रहता। स्वाद सदन स्वीट हाउस के मालिक संजय मल्होत्रा बताते हैं,“पिछले 15 दिनों से मार्केट डाउन चल रहा है आने वाले दस-पन्द्रह दिन तक इसका असर दिखेगा, टैक्स देने में कोई बुराई नहीं है।”

ये भी पढ़ें- GST का असर : 3% सस्ती हुईं मारुति सुजुकी की कई गाड़ियां, दूसरी कंपनियां भी कर सकती हैं कटौती

कशिश बुटिक की राबिया फारुकी (45 वर्ष) ने कहा,“सिलाई मशीनों पर जीएसटी लागू कर दिया गया है, एक हजार से अधिक दामों के कपड़ों पर भी टैक्स लगेगा, पहले सिलाई हम 300 रूपए लेते थे 30 जून से सिलाई 350 कर दी है जिससे जो बढ़ोत्तरी हुई है वो आमदनी निकल सके।”उन्होंने आगे कहा, “जीएसटी ठीक है जो लोग समझ गये उनके लिए ठीक है, कितनी छूट मिलेगी मिलेगी कितनी नहीं ये समझने में एक दो महीना लग जाएगा।”

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिएयहांक्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top