शो-पीस बनी पानी की टंकी, पांच साल से नहीं आया पानी  

शो-पीस बनी पानी की टंकी, पांच साल से नहीं आया पानी  पांच वर्षों से इस टंकी में पानी नहीं आया है।

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

औरैया। गर्मी के मौसम में जहां लोगों को पेयजल की समस्या से निजात दिलाने के लिए प्रशासन भरपूर सहयोग करता है, लेकिन जिले में पेयजल की समस्या दूर करने के लिए कोई अथक प्रयास नहीं किया गया। यही कारण है कि पेयजल समस्या को दूर करने के लिए पांच से बनी टंकी शो-पीस साबित हो रही है।

ये भी पढ़ें : औरैया : खराब पड़े हैंडपंप, गहराया पेयजल का संकट

जिला मुख्यालय से 15 किलोमीटर दूर हाईवे दक्षिण दिशा में बसे गाँव बसंतपुर द्वारिकापुर में साल 2011-12 में पेयजल समस्या दूर करने के लिए पानी की टंकी बनवाई गई थी। टंकी बनने के बाद पूरे गाँव में पाइप लाइन बिछा दी गई। इससे ग्रामीणों ने आशा की, कि अब गाँव में पीने के पानी के लिए मुसीबत नहीं उठानी पड़ेगी। टंकी का निर्माण होने के बाद आपरेट करने वाले कमरे में ताला लगा दिया गया। लगातार पांच साल से वैसा ही ताला लगा हुआ है जिसको जंग भी खा गई है।

बसंतपुर निवासी होम सिंह (48 वर्ष) कहते हैं, “पेयजल की समस्या गाँव में बहुत अधिक है, हैंडपंप जब खराब हो जाते हैं तब पानी के लिए त्राहीमाम पड़ती है। अगर टंकी शुरू हो जाए तो ग्रामीणों को काफी हद तक आराम मिलेगी।"

ये भी पढ़ें : गंदा पानी उगल रहे हैंडपंप, अम्बेडकर नगर में शुद्ध पेयजल का संकट

ग्रामीणों की सुविधा के लिए जिला प्रशासन प्रयास तो करता है, लेकिन उन्हें दूर कराने में सफल नहीं होता है। शासन से मिलने वाला बजट को प्रशासन खर्च कर देता है लेकिन उसका संचालन नहीं करवा पाता है, जिसकी वजह से ग्रामीणों की समस्याएं जस की तस रहती हैं।

ये भी पढ़ें : सीतापुर के कई गाँवों में नहीं जल निकासी की व्यवस्था

शिकायत के बावजूद नहीं शुरू हुई टंकी, बसंतपुर के प्रधान रामजीत कठेरिया (40 वर्ष) कहते हैं, “गाँव में पेयजल की अधिक समस्या है, जिसे दूर करने के लिए पानी की टंकी बनवाई गई। लेकिन जब से बनी तब से शुरू नहीं हो सकी, टंकी को चालू कराने के लिए तहसील दिवस में शिकायत की लेकिन फिर भी टंकी चालू नहीं हो सकी।"

डीएम जय प्रकाश सगर से इस संबंध में सवाल किया गया तो उन्होंने बताया, “तहसील दिवस में अगर शिकायत आयीं हैं तो एक्सइएन को आदेश दिया गया होगा। एक्सइएन ने टंकी क्यों शुरू नहीं कराई जवाब तलब किया जाएगा।"

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top