एसआईटी ने आईएएस अनुराग तिवारी की जांच रिपोर्ट सीबीआई को सौंपी

एसआईटी ने आईएएस अनुराग तिवारी की जांच रिपोर्ट सीबीआई को सौंपीसीबीआई की टीम।

लखनऊ। आईएएस अनुराग तिवारी की रहस्मय मौत के मामले में शानिवार सीबीआई टीम ने हजरतगंज कोतवाली पहुंच कर एसआईटी द्धारा अबतक जांच की हुई सभी जांच रिपोर्ट अपने कब्जे में लेकर पूछताछ की है। सीबीआई की टीम ने एसआईटी के सदस्य हजरतगंज एसएचओ आनंद शाही से बंद कमरे में करीब तीन घंटे पूछताछ की है। इस दौरान सीबीआई ने मुकदमे से जुड़े सभी साक्ष्यों को अपने कब्जे में लेकर जांच शुरू कर दी है। बताते दे कि, बीते शुक्रवार को सीबीआई ने आईएएस मौत मामले में दिल्ली में मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

ये भी पढ़ें- इन महिला पुलिसकर्मियों के लिए एक सलाम तो बनता ही है, पढ़ के आप भी कहेंगे वाह

एसएचओ हजरतगंज आनंद शाही के अनुसार, शनिवार सुबह करीब 11 बजे सीबीआई की चार सदस्य को टीम हजरतगंज कोतवाली पहुंची। टीम में डीएसपी सुनील सिंह ने आईएएस अनुराग तिवारी से जुड़े सभी साक्ष्यों को मांगा, जिसे उन्हें सौंप दिया गया है। साथ ही उन्होंने बताया कि, एसआईटी द्धारा जांच की हुई 556 पेज की रिपोर्ट को भी सीबीआई को दे दिया गया है। इस दौरान सीबीआई ने कर्नाटक में हुई जांच, पीएम रिपोर्ट और केस से जुड़े करीब 60 फोटोग्राफ को भी अपने कब्जे में ले लिया है।

इन साक्ष्यों को एकत्र करने के बाद एक बार फिर सीबीआई की टीम शाम के वक्त हजतरगंज कोतवाली पहुंची, जहां टीम के सदस्यों ने एसआईटी से एक घंटे तक बंद कमरे में पूछताछ की। साथ ही सीबीआई ने सबसे पहले घटनास्थल पर पहुंचने वाले सिपाही और दरोगा से भी जानकारी एकत्र की है। वहीं इस संबंध में सीबीआई टीम ने कुछ बोलने से इंकार कर दिया है। उनका कहना है कि, जांच की तो अभी शुरुवात हुई है, अभी कुछ बता पाना मुश्किल है। उधर एसएसपी दीपक कुमार ने बताया कि, आईएएस अनुराग तिवारी की जांच कर रही सीबीआई टीम को पूरा सहयोग दिया जायेगा, जिससे इस संदिग्ध मौत के ऊपर से पर्दा उठ सके।

ये भी पढ़ें-ICC Champions Trophy Final: भारत पाकिस्तान के बीच कल होगी खिताबी भिड़ंत

वहीं सीबीआई जांच के मामले में मृतक के बड़े भाई मयंक ने बताया कि, एसआईटी की जांच से वह संतुष्ट नहीं थे, लेकिन अब पूरा केस सीबीआई के हवाले है, इससे उनके भाई के हत्यारों को सलाखों के पीछे सीबीआई टीम जल्द भेजेगी। ज्ञात हो कि, बीते मई माह में हजरतगंज के मीराबाई मार्ग के पास कर्नाटक कैडर के आईएएस अनुराग तिवारी का शव संदिग्ध हालत में सड़क किनारे पड़ा मिला था, जिसकी जांच के लिए लखनऊ पुलिस ने एसआईटी टीम गठित की थी, लेकिन आईएएस के परिवार ने सीएम योगी आदित्यनाथ से मुलाकात कर पूरे मामले की जांच सीबीआई से कराने की मांग की थी। इस मांग को मानते हुए प्रदेश सरकार ने सीबीआई जांच के लिए संस्तृति कर दी थी।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top