गोरखपुर मामले में छठा आरोपी गिरफ्तार, 3 की तलाश जारी

गोरखपुर मामले में छठा आरोपी गिरफ्तार, 3 की तलाश जारीबाबा राधव दास मेडिकल कॉलेज

गोरखपुर (आईएएनएस/आईपीएन)। गोरखपुर के बाबा राघवदास (बीआरडी) मेडिकल कॉलेज में कई बच्चों की मौत के मामले में आरोपी बनाए गए नौ लोगों में छठे नामजद आरोपी संजय त्रिपाठी को मंगलवार को गोरखपुर में गिरफ्तार कर लिया गया है। अब पुलिस और एसटीएफ बाकी बचे तीन आरोपियों की तलाश में जुटी है।

बाबा राघवदास मेडिकल कॉलेज में सहायक लेखाकार संजय त्रिपाठी को पुलिस ने मंगलवार को कैंट थाना क्षेत्र से गिरफ्तार किया। बताते हैं कि आरोपी सहायक लेखाकार संजय त्रिपाठी डॉक्टर सतीश की तरह न्यायालय में समर्पण करने की कोशिश में था, लेकिन पुलिस ने उसकी कोशिश को असफल करते हुए पहले ही कैंट थाना क्षेत्र से गिरफ्तार कर लिया। 30 बच्चों की मौत के मामले में अब तक छह लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है।

ये भी पढ़ें : सरकारी रिपोर्ट : किसान की आमदनी 4923 , खर्चा 6230 रुपए

बाबा राघवदास मेडिकल कॉलेज में दस व 11 अगस्त की रात 60 से अधिक हुई मौत के मामले में गोरखपुर के जिलाधिकारी को जांच सौंपी गई थी। मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य से लेकर कई अन्य जिम्मेदार डॉक्टरों को लापरवाही का तो दोषी माना गया था।

मुख्यमंत्री ने मुख्य सचिव की अध्यक्षता में जांच समिति गठित कर एक हफ्ते में रिपोर्ट मांगी थी। मामले में कई स्तरों पर अधिकारियों की उदासीनता और लापरवाही की बातें सामने आई थी। ऑक्सीजन की आपूर्ति करने वाली फर्म ने आपूर्ति रोके जाने की बात भी कही थी।

ये भी पढ़ें : अर्धकुंभ में संतो का जारी होगा आईकार्ड, फर्जी बाबाओं पर लगेगी लगाम

इसके बाद महानिदेशक चिकित्सा-शिक्षा डॉ. केके गुप्ता की तहरीर पर 23 अगस्त को पुलिस ने लखनऊ के हजरतगंज थाने में नौ लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया, जिसमें तत्कालीन प्राचार्य डॉ. राजीव मिश्र, उनकी पत्नी डॉ. पूर्णिमा शुक्ला, वार्ड 100 के एनएचएम के नोडल अधिकारी डॉ. कफील खान, लिपिक सुधीर पांडेय, एनेस्थिसिया के विभागाध्यक्ष डॉ. सतीश कुमार, लेखाकार संजय त्रिपाठी, गजानन जायसवाल, उदय शर्मा और मनीष भंडारी शामिल है। इनमें से छह लोग अब तक पकड़े जा चुके हैं। एसएसपी सत्यार्थ अनिरुद्ध पंकज ने बताया कि अब गजानन जायसवाल, उदय शर्मा और मनीष भंडारी की तलाश चल रही है।

ये भी पढ़ें : क़िस्सा मुख़्तसर : जॉन एलिया ने बताए अपने ख़ास दोस्त के क़िस्से

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top