स्किल इंडिया से यूपी में 5 साल में बिछेगा रोजगार का जाल : रुडी 

स्किल इंडिया से  यूपी  में 5 साल में बिछेगा रोजगार का जाल : रुडी केनफेडरेशन ऑफ रीयल एस्टेट एसोसिएशन के राष्ट्रीय सेमिनार को संबाेधित करते वक्ता।

लखनऊ। कौशल विकास एवं उद्यमिता राज्यमंत्री राजीव प्रताप रूडी ने कहा कि स्किल इंडिया ने अब तक लाखों युवाओं को रोजगार से जोड़ा है। यूपी में भी कौशल विकास का जाल बिछाया जाएगा। उन्होंने कहा कि पहली बार कौशल विकास मंत्रालय को अलग किया गया है। इस मंत्रालय को मात्र ढाई वर्ष हुए हैं।

आपको बता दें कि केंद्रीय कौशल विकास राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) राजीव प्रताप रुडी शनिवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ लखनऊ के एनेक्सी ऑफिस में पत्रकारों से वार्ता कर रहे थे। रुडी ने कहा, "अगले पांच वर्षो में वह यहां रोजगार का जाल बिछा देंगे। उप्र में 2,300 आईटीआई हैं। इसकी गुणवत्ता पर भी जोर दिया जाएगा।"

लखनऊ के गोमती नगर स्थित (केनफेडरेशन ऑफ रीयल एस्टेट एसोसिएशन) के राष्ट्रीय सेमिनार में क्रेडाई के राष्ट्रीय अध्यक्ष जक्षय शाह भी उपस्थित रहे। उन्होंने एक्जीक्यूटिव काउंसिल (ईसी) और गवर्निंग काउंसिल (जीसी) में अपने सदस्य डेवलपरों के जरिये प्रदेश में किफायती आवास व कौशल अभियान को मजबूती देने की बात कही। उन्होंने ‘सभी के लिए आवास’ के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सपने को साकार करने की क्रेडाई की प्रतिबद्धता दोहराई।

नए दौर से गुजर रहा रियल एस्टेट उद्योग

क्रेडाई के अध्यक्ष (राष्ट्रीय) जक्षय शाह ने कहा, ‘भारतीय रियल एस्टेट उद्योग नोटबंदी, रेरा, जीएसटी और इन्फ्रास्ट्रक्चर को किफायती हाउसिंग का दर्जा दिए जाने जैसे कई नीतिगत सुधारों के साथ क्रांतिकारी एवं नए दौर से गुजर रहा है। इससे न सिर्फ हमारे सदस्यों या हमारे उद्योग के लिए व्यापक अवसर पैदा हुए हैं, बल्कि स्वयं राष्ट्र के लिए भी नए अवसर उत्पन्न हुए हैं।

सेमीनार में उपस्थित वित्त राज्यमंत्री संतोश गंगवार ने कहा, ‘सभी के लिए आवास भारत सरकार का एक महत्वाकांक्षी लक्ष्य है। इसके लिए निजी क्षेत्र से सक्रिय भागीदारी जरूरी है। मैं ‘सभी के लिए आवास’ के सरकारी मिशन में क्रेडाई द्वारा दिए गए सराहनीय योगदान के लिए धन्यवाद देता हूं।’ उन्होंने कहा कि ‘अफार्डेबल हाउसिंग’ के लक्ष्य में बैंक और वित्तीय संस्थान भी अहम योगदान दे सकते हैं।

इस वर्ष एक लाख निर्माण श्रमिकों को कुशल बनाने का लक्ष्य

क्रेडाई ने अब तक 50,000 से अधिक निर्माण श्रमिकों को प्रशिक्षित किया है और वर्ष 2017-18 के दौरान एक लाख से अधिक निर्माण श्रमिकों को कुशल बनाने का लक्ष्य रखा है। हाल में डेनमार्क में हुए वर्ल्ड स्किल्स कॉम्पटीशन 2017 के विजेताओं को भी सम्मानित किया गया। इसमें एटीएस इन्फ्रास्ट्रक्चर, दिल्ली से रहीम मोमीन को ब्रिकलेइंग में दूसरा स्थान, कोल्टे पाटिल डेवलपर्स लिमिटेड, पुणे से शैलेंद्र चैहान को वॉल एंड फ्लोर टाइलिंग में तीसरा स्थान मिला।

संबंधित खबर : देश में पहली बार बंजारों का भी हो रहा कौशल विकास

संबंधित खबर : ‘नक्सल क्षेत्रों के 20 हजार युवाओं को मिला कौशल प्रशिक्षण’

संबंधित खबर : पत्ताचित्रकारी करने में होती है कुशल शिल्पकारिता और धैर्य की जरूरत

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Share it
Share it
Top