खंडहर में तब्दील होता जा रहा है बाराबंकी जिले की मृदा परीक्षण प्रयोगशाला, देखें तस्वीरें

Akash SinghAkash Singh   29 Sep 2017 3:05 PM GMT

खंडहर में तब्दील होता जा रहा है बाराबंकी जिले की मृदा परीक्षण प्रयोगशाला, देखें तस्वीरेंबाराबंकी 

स्वयं कम्युनिटी जॉर्नलिस्ट

बाराबंकी। बाराबंकी जिले की तहसील रामसनेहीघाट में बने उपसंभागीय कृषि प्रसार अधिकारी कार्यालय और मृदा परीक्षण प्रयोगशाला भवन देखरेख के अभाव में बेहद खराब होता जा रहा है। कार्यालय परिसर में बड़ी-बड़ी झाड़िया उगी हुई है और काफी मात्रा में घास भी। जिससे जंगली जानवरों के होने का खतरा भी बना रहता है।

कार्यालय परिसर का हाल तो बुरा है ही वहीं कार्यालय की छत पर भी बड़ी-बड़ी घास व कांटेदार पौधे तक उग आये हैं। छत पर रखी पानी की टंकी में कीड़े मकोड़े मरे हुए पड़े हैं।

कार्यालयल में उपस्थित एक कर्मचारी अनिल कुमार बताते हैं, "हमने कई बार उच्च अधिकारियों से भवन की मरमत व साफ सफाई की बात कही लेकिन अभी तक कोई सुनवाई नहीं हुई।"

बजट का है अभाव : उप जिला कृषि अधिकारी

इस जर्जर भवन को लेकर जब हमने जिले के उप कृषि निदेशक अनिल कुमार सागर से बात की तो और भी रोचक तथ्य सामने आए उन्होंने बताया, "आज से कई साल सभी तहसील मुख्यालयों पर उप सम्भागीय कृषि प्रसार अधिकरियों के कार्यालय बनाए गए थे जिसका बजट वर्ल्ड बैंक द्वारा दिया जाता था, लेकिन वर्तमान में किसी भी संस्था द्वारा इन भवनों की मरम्मत के लिए किसी भी तरह का बजट नहीं दिया जा रहा है। और न ही इन पदों पर दोबारा कोई नियुक्ति की गई। वहीं किसी अधिकारी व कर्मचारी के वहां न रहने के कारण इन भवनों की हालत जर्जर हो गयी है। हमनें कई बार शासन को इस विषय पर पत्र भी लिखा परन्तु कोई भी कार्यवाही नहीं की गई।"

ये भी पढ़ें:- बाराबंकी-अकबरपुर रेल लाइन दोहरीकरण परियोजना को मंजूरी, पर्यटन को मिलेगा बढ़ावा

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top