तहसील दिवस में कुछ मामलों का मौके पर हुआ निस्तारण तो कुछ मामले अभी लंबित

तहसील दिवस में कुछ मामलों का मौके पर हुआ निस्तारण तो कुछ मामले अभी लंबिततहसील दिवस पर अपने नंबर का इंतजार करते फरियादी।

इश्त्याक खान, स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

औरैया। हादसे में विकलांग हुआ युवक प्रमाण पत्र बनवाने के लिए लाठी का सहारा लेकर पत्नी के साथ तहसील दिवस में पहुंचा। उसने अपनी फरियाद अधिकारियों को सुनाई। 22 शिकायतों में आठ का मौके पर निस्तारण किया गया।

लगातार दो दिन की छुट्टी होने के कारण गुरुवार को तहसील दिवस का आयोजन किया गया। तहसील दिवस में एसडीएम राजेंद्र कुमार ने फरियादियों की समस्याएं सुनीं। फफूंद के पास गाँव खानपुर निवासी प्रेमलाल ने बताया कि एक हादसे में पैर से विकलांग हो गया। विकलांग प्रमाण पत्र बनवाने के लिए भटक रहा हूं। कोई अधिकारी नहीं सुन रहा है। चलने में असमर्थ होने की वजह से लाठी का सहारा लेकर पत्नी के साथ आया हूं।”

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

एसडीएम ने विकलांग को 20 अप्रैल को जिला स्तरीय तहसील दिवस में आने के लिए कहा। जिसमें चिकित्सक भी मौजूद रहेंगे। उसी दिन डीएम के आदेश पर प्रमाण पत्र बनकर मिल जाएगा। वहीं देवरपुर निवासी सुनीता देवी ने बताया कि उसकी जमीन पर पड़ोसी युवक ने कब्जा कर लिया है। कब्जा हटाने की बात कहने पर गाली-गलौज कर मारपीट कर दी।

गाँव करमपुर निवासी राकेश कुमार ने बताया कि उसके घर के सामने पड़ोसी के परनाले का पानी निकलता है। जिसका विरोध करने पर उसे और उसके परिवार को पड़ोसी ने मारपीट कर घायल कर दिया। पुलिस से शिकायत की गई लेकिन मामला दर्ज नहीं हो सका। एसडीएम ने शिकायतों से संबंधित अधिकारियों को आदेशित करते हुए कहा कि एक सप्ताह में समस्याओं का निस्तारण करना सुनिश्चित करें। तहसील दिवस में सदर तहसीलदार प्रेम नरायन प्रजापति, नायब तहसीलदार निधि पाण्डेय, सदर बीडीओ आदित्य कुमार मौजूद रहे।

फैज़ाबाद में तहसील दिवस का आयोजन

सोहावल तहसील में मुख्य विकास अधिकारी अरविंद मल्लप्पा बंगारी व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अनंन्त देव ने गुरुवार को तहसील दिवस में जन शिकायतों व समस्याओं की संयुक्त रूप से सुनवाई करते हुए कहा कि तहसील दिवस में जनता की सुनवाई प्राथमिकता व गुणवत्ता के आधार पर किए जाए, जिससे शिकायतकर्ता दोबारा वही शिकायत लेकर तहसील दिवस में उपस्थित न हो।

तहसील दिवस पर निपटीं सिर्फ पांच शिकायतें

सदर तहसील में तहसील दिवस पर कुल 58 शिकायतें आईं, जिसमें से पांच शिकायतों का मौके पर निस्तारण किया गया। सरिता गौतम (19 वर्ष) बताती हैं, “पिता शराब पीने के बाद रोज मुझे और मेरी मां को घर से निकाल देते हैं। दूसरी शादी करने की बात करते हैं।”

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top