अगर आप की जेब में नहीं है पैसे तो अंगूठा लगाकर रोडवेज बस में करें सफर, जानिए कैसे

अगर आप की जेब में नहीं है पैसे तो अंगूठा लगाकर रोडवेज बस में करें सफर, जानिए कैसेप्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्ली। अब जल्द ही आप रोडवेज बसों में बिना कैश के भी सफर कर सकते हैं। कैश नहीं देने पर आपको कंडक्टर के पास रखी एक मशीन में बस अंगूठा लगाना होगा। अंगूठा लगाने के बाद कंडक्टर आपको टिकट दे देगा जिसके बाद आप आराम से सफर करिए।

दरअसल, यूपी परिवहन निगम प्रबंधन इन दिनों में बसों में जल्द ही 'कैशलेस सफर' की सुविधा देने की योजना पर काम कर रहा है। इसके लिए कंडक्टर को दी जाने वाली कैशलेस टिकटिंग मशीनों का ट्रायल भी शुरू हो गया है।

आधार से लिंक होगी मशीन परिवहन निगम इसके लिए एक कैशलेस टिकटिंग मशीन का ट्रायल कर रही है। यह मशीन कंडक्टर के पास होगी। मिली जानकारी के मुताबिक यह मशीन आधार डाटाबेस से लिंक होगी। कैश नहीं होने पर यात्री इस मशीन में जैसे ही अंगूठा लगाएगा आधार के जरिए उसकी पहचान तुरंत सामने आ जाएगी। यहां यह जरूरी है कि उस यात्री का आधार उसके बैंक खाते से लिंक हो।

ये भी पढ़ें- जानिए क्या है उजाला योजना, कैसे हर घर को मिलेगा आधी कीमत पर LED बल्ब

बैंक खाते से कट जाएगा पैसा यात्री के अंगूठा लगाते ही उसका आधार से लिंक बैंक अकाउंट मशीन में आ जाएगा और यात्री के द्वारा उसमें पिन डालते ही उसके बैंक खाते में से पैसा कट जाएगा और मशीन उसे टिकट निकालकर दे देगी। इस तरीके से कोई फ्रॉड न हो इसलिए टिकट पर बैंक खाते से हुए लेनदेन का पूरा ब्यौरा रहेगा जिससे यात्री मिलान कर सकेगा। इस टिकटिंग मशीन के लिए परिवहन निगम एक फूलप्रूफ सॉफ्टवेयर बनाने में जुटा हुआ है।

जीएम विनीत सेठ के मुताबिक बीती चार अक्टूबर को दिल्ली में वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी यशवीर सिंह की अध्यक्षता में बैठक हुई थी। इसमें सभी प्रदेशों के प्रमुख सचिव, परिवहन आयुक्त, प्रबंध निदेशक समेत कई अधिकारियों ने शिरकत की थी।

ये भी पढ़ें- 25 लाख तक का बिजनेस शुरू करने के लिए सरकार से ले सकते हैं लोन, ये हैं तरीके

15 हजार बसों में जल्द होगी कैशलेस टिकटिंग मशीन

यूपी परिवहन निगम ने बताया कि इस योजना को जल्द ही सरकार से मंजूरी मिल सकती है जिसके बाद 15,000 बसों में कैशलेस टिकटिंग मशीनें उपलब्ध करा दी जाएंगी। बता दें कि रोडवेज बसों में अभी 95 फीसदी यात्री कैश से टिकट खरीद कर यात्रा करते हैं।

ये भी पढ़ें- किसान ऐसे उठा सकते हैं बायोगैस संयंत्र योजना का लाभ, सरकार देती है भारी सब्सिडी

स्मार्ट कार्ड से भी टिकट का भुगतान संभव:

नई मशीन पिछली ई-टिकटिंग मशीन से भिन्न होगी। इसमें भीम ऐप और एटीएम से भी होगा पेमेंट आधार के अलावा इस मशीन में एटीम कार्ड, डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड और भीम ऐप के जरिए भी पेमेंट करने की सुविधा मौजूद होगी।

तैयार किया जाएगा नया सॉफ्टवेयर

कैशलेस व्यवस्था को प्रमोट करने के लिए नया साफ्टवेयर तैयार किया जाएगा। एक ही मशीन में सभी तरह के भुगतान की व्यवस्था होगी।

ये भी पढ़ें- आईआरसीटीसी टिकट बुकिंग एजेंट बनकर कर सकते हैं अच्‍छी कमाई, ऐसे करें आवेदन

बदली जाएंगी हजारों टिकट मशीनें

प्रधान प्रबंधक विनीत सेठ के मुताबिक इसकी तैयारियां चल रही हैं। विभिन्न कंपनियों की मशीनों को देखा गया है। जल्द ही इस पर स्वीकृति मिल जाएगी। मंजूरी के साथ ही तत्काल 15,000 मशीनें बदली जाएंगी।

क्या कहते हैं अधिकारी:

उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन के प्रबंध निदेशक पी. गुरुप्रसाद कहते हैं, "बुधवार को विभिन्न मशीनों का प्रेजेंटेशन देखा गया। इनमें कई बेहतर दिखीं। इससे कैशलेस व्यवस्था तो प्रमोट होगी ही, भ्रष्टाचार पर भी काफी हद तक नकेल कसी जा सकेगी। प्रेजेंटेशन के दौरान निगम अध्यक्ष प्रवीण कुमार भी मौजूद रहे। बोर्ड बैठक में इसे रखा जाएगा।"

ये भी पढ़ें- सरकार दे रही है सोलर लैम्प फैक्ट्री लगाने का मौका, ऐसे करें अप्लाई

95 फीसद यात्री नकद लेते हैं टिकट

परिवहन निगम की 12,500 बसों में प्रतिवर्ष तकरीबन 56 करोड़ यात्री सफर करते हैं। निगम अफसरों की मानें तो 95 फीसद यात्री सफर में टिकट नकद ही लेता है। ऐसे में डिजिटल इंडिया की कैशलेस व्यवस्था में रोडवेज का एक अहम योगदान हो सकता है।

ये भी पढ़ें- यूपी : ट्रांसफार्मर फुंका हो या टूटा हो तार , इन नंबर पर बिजली विभाग से करें शिकायत

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top