आज़मगढ़ में कुख्यात बदमाश के साथ हुयी मुठभेंड में एसपी को लगी गोली 

आज़मगढ़ में कुख्यात बदमाश के साथ हुयी मुठभेंड में एसपी को लगी गोली आज़मगढ़ में पुलिस और बदमाशों में हुयी मुठभेंड

लखनऊ। यूपी के आजमगढ़ जिले में बुधवार सुबह एक कुख्यात बदमाश और पुलिस के बीच मुठभेड़ हो गई। इस मुठभेड़ में जिले के एसपी ग्रामीण नरेंद्र प्रताप को गोली लग गई, जिन्हें अस्पताल में उपचार के लिए भर्ती कराया गया है। जबकि दोनों तरफ से हुई फायरिंग में अपराधी सागर उर्फ भीम को भी चार गोलियां लगी हैं, जिसे वाराणसी के बीएचयू अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उसकी हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है।

ये भी पढ़ें- जान जोखिम में डालकर स्कूल पढ़ाने जाती है ये सरकारी टीचर, देखें वीडियो

एसएसपी आजमगढ़ के मुताबिक, दो अज्ञात बदमाशों द्वारा एक व्यक्ति से बाइक व मोबाईल लूट की सूचना कन्ट्रोलरूम के माध्यम से जिले में प्रसारित हुई। इस सूचना पर पुलिस तथा स्वाट टीम एवं समस्त थानों को संदिग्ध बदमाशों की चेकिंग हेतु आदेश दिया गया। पुलिस अधीक्षक अजय कुमार साहनी, अपर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण/नगर के साथ चौराहों पर चेकिंग अभियान चलाया जा रहा था। चेकिंग के दौरान कतरालपुर तिराहे की ओर से आ रही एक संदिग्ध बाइक पर सवार दो व्यक्तियों को पुलिस अधीक्षक व उनकी टीम द्वारा रोकने का इशारा किया गया, जिस पर मोटरसाईकिल सवार व्यक्ति पुलिस टीम पर फायरिंग करते हुए बागलखराव नया पुल की तरफ भागने लगे।

बदमाशों की फायरिंग से पुलिस अधीक्षक ग्रामीण नरेंद्र प्रताप के बायें हाथ व उनके सरकारी वाहन में गोली लगी तथा पुलिस अधीक्षक आजमगढ़ के बुलेट प्रूफ जैकेट पर सीने के बीच में गोली लगी जिसपर पुलिस द्वारा जबाबी फायरिंग किया गया। जिसमें एक बदमाश गोली लगने से घायल होकर मौके पर ही गिर गया, जबकि दूसरा बदमाश अंधेरे का फायदा उठाकर भागने में सफल रहा। घायल बदमाश को गंभीर हालत में पहले जिला अस्पताल ले जाया गया, जहां से उसे वाराणसी के बीएचयू अस्पताल रेफर कर दिया गया। वहीं एसपी का स्‍थानीय अस्पताल में इलाज चल रहा है। बताया जा रहा है कि मंगलवार की दोपहर लूट का आरोपी भीम न्यायालय में पेशी के दौरान पुलिस को चकमा देकर फरार हो गया था।

ये भी पढ़ें- Video : राजधानी लखनऊ का काला सच , डिप्टी CM के घर के पास ढोया जाता है सिर पर मैला

एसपी अजय साहनी ने बताया कि, गंभीरपुर थाना क्षेत्र का रहने वाला भीम बड़ा अपराधी है। उस पर 38 मुकदमे चल रहे हैं। इसके ऊपर दिल्ली में 25 मुकदमे चल रहे हैं। उधर, राकेश पासी घटनास्‍थल से फरार होने में कामयाब रहा। वहीं घायल बदमाश भीम आजमगढ़ के सिधारी थाना क्षेत्र से पुलिस कस्टडी से फरार हो गया था। आरोपी के कब्जे से मुठभेड़ के बाद एक पिस्टल 9 एमएम, 02 जिन्दा कारतूस व लूट की मोटरसाईकिल, दो मोबाईल व अन्य कागजात बरामद हुआ। पुलिस पूछताछ पर बदमाश भीम ने बताया कि, वह पुलिस कस्टडी से भागने के बाद अपने एक साथी राकेश पासी से मिला व उसकी सहायता से अपनी हथकडी़ कटवाया व राकेश पासी ने ही पिस्टल व कारतूस उपलब्ध कराया और सिधारी क्षेत्र में एक व्यक्ति से मोटरसाईकिल व मोबाईल लूट कर रात में ही जनपद से बाहर भागने के प्रयास में थे। बताते दें कि, सागर उर्फ भीम एक शातिर किस्म का अन्तर्राज्यीय लूटेरा व भाड़े का हत्यारा है, जिसके द्वारा उत्तर प्रदेश के अतिरिक्त राजधानी दिल्ली सहित अन्य प्रदेशों में लूट, हत्या के कई दर्जन मुकदमें दर्ज है। दिल्ली सरकार द्वारा अभियुक्त सागर उर्फ भीम उपरोक्त के उपर दिल्ली राज्य सरकार की ओर से एक लाख रुपए का ईनाम रख रखा था।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिएयहांक्लिक करें।

Share it
Top