खेल कोटे में जल्द हों भर्तियां: चेतन चौहान

खेल कोटे में जल्द हों भर्तियां: चेतन चौहानखिलाड़ियों की नियुक्ति और खेल को बढ़ावा देंगे नवनियुक्त खेल मंत्री।

विशाल मिश्रा

लखनऊ। “यूपी की दो बड़ी समस्याएं हैं, बेरोजगारी और आबादी और जिनका शिकार खिलाड़ी भी होता है। मेरा प्रयास होगा कि खिलाड़ियों को विभिन्न विभागों में खेल कोटे के निर्धारित पदों पर नियुक्ति के लिए तुरंत प्रभाव से कार्रवाई हो। वहीं सरकार की कोशिश होगी कि प्रदेश में नए उद्योग लगे, जहां कॉरपोरेट और सोशल रिस्पॉन्सिबिलिटी के तहत खिलाड़ियों की नियुक्ति और खेल को बढ़ावा दिया जाए।” यह कहना है प्रदेश के नवनियुक्त खेल मंत्री और पूर्व टेस्ट क्रिकेटर चेतन चौहान का।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

खेल निदेशालय के निरीक्षण करने के बाद उन्होंने खास बातचीत में अपनी योजनाओं के बारे में बताया। भारत के लिए 40 टेस्ट मैच खेल चुके पूर्व क्रिकेटर चेतन चौहान ने पद संभालने के बाद सीधे खेल निदेशालय का रुख किया। उन्होंने यह भी साफ किया कि यूपी के खिलाड़ियों में प्रतिभा की कोई कमी नहीं है, बस जरूरत है उन्हें अच्छी ट्रेनिंग और सुविधाओं की। इसके लिए अच्छे और ट्रेन्ड कोच रखे जाएंगे और जरूरत पड़ेगी तो विदेशी कोच भी प्रशिक्षण के लिए नियुक्त कराए जाएंगे।

‘खिलाड़ियों की दिक्कतों को समझता हूं’

अमरोहा के नौगांव सादात से विधायक चुने गए चेतन चौहान ने कहा, “मैं खुद इंटरनैश्नल खिलाड़ी रहा हूं। खेल और खिलाड़ियों की दिक्कतें समझता हूं और उनके निदान के लिए काम करूंगा।” उन्होंने तीन प्राथमिकताओं के बारे में चर्चा करते हुए कहा कि उनकी पहली प्राथमिकता फिलहाल प्रदेश में उपलब्ध विभिन्न खेल सुविधाओं और योजनाओं का अध्ययन करना है। जो भी सुधार और परिवर्तन जरूरी होगा, उसको लागू किया जाएगा।

चयन प्रक्रिया की निगरानी करेंगे खेल मंत्री

पिछले काफी समय से स्पोटर्स कॉलेज और स्पोटर्स हॉस्टल में प्रवेश में हो रहे फ़र्जीवाड़े के बारे में उन्होंने कहा कि अब चयन में पारदर्शिता होगी जो योजना बनेगी उसमें यह सुनिश्चित किया जाएगा कि चयनकर्ता बिना किसी दबाव के कार्य करें। इसके साथ ही टैलेंट और क्वालीफाइड खिलाड़ियों को प्रवेश मिले। उन्होंने कहा कि पूरी चयन प्रक्रिया की वे खुद निगरानी करेंगे जिससे चयनकर्ता बिना किसी दबाव के काम करें। उन्होंने कहा, “मैंने क्रिकेट टीम के चयनकर्ता के तौर पर भी किसी का दबाव बर्दाश्त नहीं किया था और यहां भी ऐसा ही होगा।”

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top