भ्रष्टाचार में लिप्त प्रधानाचार्य को सम्मानित किए जाने के विरोध में शिक्षक संघ

भ्रष्टाचार में लिप्त प्रधानाचार्य को सम्मानित किए जाने के विरोध में शिक्षक संघप्रतीकात्मक तस्वीर।

लखनऊ। राजधानी के एम.डी. शुक्ला इंटर कालेज के प्रधानाचार्य पर लगे भ्रष्टाचार के आरोप पर कार्रवाई की मांग को लेकर कालेज के शिक्षकों ने 5 सितम्बर को शिक्षक दिवस पर माध्यमिक शिक्षक संघ के जिला कार्यालय में सिर के बालों का मुण्डन करवा कर प्रदर्शन करेंगे।

शिक्षक संघ के प्रदेशीय मंत्री एवं जिला संरक्षक डा. आर.पी. मिश्र ने जिला कार्यालय पर आयोजित पत्रकार वार्ता में बताया कि विद्यालय के शिक्षक, प्रधानाचार्य द्वारा किए गए विधायक निधि के घोटाले, अनियमितताओं, भ्रष्टाचार तथा शिक्षकों के उत्पीड़न से सम्बन्धित ज्ञापन प्रमाणों को 9 जून को शिक्षा निदेशक तथा अन्य उच्च अधिकारियों को प्रेषित किए थे।

छात्रों से अवैध वसूली से संबंधित ज्ञापन 1 अगस्त को जिला विद्यालय निरीक्षक को प्रमाण सहित प्रेषित किए गए थे। जिस पर शिक्षा निदेशक एवं जिला विद्यालय निरीक्षक के निर्देश पर विमलेश कुमार (सह-जिला विद्यालय निरीक्षक) की टीम ने विद्यालय जाकर स्थलीय जांच की थी, जिसमें अधिकांश आरोप सही पाये गये थे और उन्होंने अपनी जांच रिपोर्ट जिला विद्यालय निरीक्षक को सौंप दी थी, लेकिन जिला विद्यालय निरीक्षक द्वारा रिपोर्ट के आधार पर प्रधानाचार्य के विरूद्ध अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की गई।

शिक्षक नेताओं ने बताया कि संज्ञान में आया है कि भ्रष्टाचार के आरोपों से घिरे माध्यमिक शिक्षा निदेशक, पुरस्कार चयन समिति के अध्यक्ष थे। उन्होंने लाखों रुपए की वसूली कर साक्षात्कार के आधार पर पुरस्कार बांटे हैं।

निदेशक ने ही प्रधानाचार्य उपाध्याय का भी नाम राज्य शिक्षक पुरस्कार के लिये चयन किया है। उन्होंने बताया कि भ्रष्टाचार में लिप्त प्रधानाचार्य को राज्य शिक्षक पुरस्कार से सम्मानित किये जाने का शिक्षक संघ विरोध करता है।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top