सोशल मीडिया पर छाया रहा यूपी में किसानों के कर्जमाफी का फैसला, पढ़िए किसने क्या कहा

सोशल मीडिया पर छाया रहा यूपी में किसानों के कर्जमाफी का फैसला, पढ़िए किसने क्या कहाgaonconnection

लखनऊ। जैसा की भाजपा ने अपने चुनावी घोषणापत्र में कहा था कि उनकी सरकार बनने पर किसानों का कर्ज माफ किया जाएगा, सरकार बनने के 16वें दिन वो वादा पूरा किया। पहली कैबिनेट मीटिंग में भाजपा ने किसानों को 1 लाख रुपए तक कर फसली लोन माफ कर दिया है। योगी सरकार के इस फैसले से यूपी के लाखों किसान तो खुश हैं कि सोशल मीडिया पर भी ये ख़बर छाई हुई है।

फैसला आने के बाद योगी आदित्यनाथ सोशल मीडिया में ट्रेंड करने लगे थे। कुछ लोगों ने सराहना तो कुछ ने अपना विरोध जताया। पढ़िए नेताओँ से लेकर कर, कृषि जानकारों, पत्रकार और किसान नेताओँ और आम लोगों ने इस पर क्या राय दी।

राहुल गांधी ने कहा- फैसला अच्छा लेकिन आंशिक किसानों को मिला लाभ, विपक्ष के दबाव का असर

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी विधानसभा चुनाव के दौरान किसानों की कर्जमाफी का वादा कर चुके थे, वादा बीजेपी ने भी किया और मौका भी बीजेपी को मिला। बुधवार सुबह राहुल गांधी ने कहा कि यूपी का सरकार का कदम बेहतर है लेकिन ये देश के अन्य राज्यों में भाी लागू हो।

सत्ता से बेदखल हुअा समाजवादी पार्टी ने इसे धोखा बताया। अखिलेश यादव ने कहा, लघु और सीमांत किसानों का ही और सिर्फ एक लाख रुपये कर्ज़ माफ करना धोखा है।

वरिष्ठ पत्रकार पुन्य प्रसून बाजपेई ने किसान को कर्ज और उद्योगपतियों को मिली रियायत पर गुणाभग की, जो सोशल मीडिया में वायरल हुआ

देशभर के किसानों पर क़र्ज़ 12,60,000 करोड़ और तीन बरस में उद्योगपतियों को रियायत 17,15,00,000 करोड़ ।

ये भी पढ़ें- यूपी सरकार ने किया दो करोड़ से अधिक लघु एवं सीमांत किसानों का फसली कर्ज माफ

Share it
Top