बीमार माँ के सहारा दो बेटों की सड़क हादसे में मौत

बीमार माँ के सहारा दो बेटों की सड़क हादसे में  मौतलखनऊ के बुधेश्वर पुल के पास सड़क हादसे में गई दो भाइयों की जान।

लखनऊ। जिस माँ ने जीवन के अंतिम समय में बेटों के कंधों पर दम तोड़ने का ख्वाब देखा होगा, आज उस माँ की आँचल में जवान बेटों का शव पड़ा था। अपनी बीमार माँ के लिए दवा लेने गए, दो युवा अचानक काल के गाल में समा जाएंगे किसी ने सोचा भी न था। ये घटना आज शुक्रवार दोपहर की है, जिसमें बुधेश्वर पुल के पास बाइक पर सवार दोनों युवाओं को किसी अज्ञात वाहन ने टक्कर मार दी। वाहन की टक्कर से घटना स्थल पर ही उनकी मौत हो गई, जबकि वाहन चालक फरार हो गया।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप


पुलिस ने बताया कि दोनों युवा सुशान मिश्रा और सत्यार्थ मिश्रा राजधानी में पीजीआई के एल्डिको काॅलोनी स्थित सेक्टर-2 के रहने वाले थे। इनके पिता श्याम मिश्रा सिविल बैंक में कैशियर के पद पर तैनात थे, जो अपनी पत्नी श्रुति मिश्रा व दोनों बेटों के साथ यहां रहते थे। सुशान मिश्रा और सत्यार्थ मिश्रा शुक्रवार की सुबह अपनी बीमार माँ श्रुति मिश्रा के लिए दवा लेने गए थे, इसी बीच यह हादसा हो गया। पड़ोसियों ने बताया कि सुशान मिश्रा (23) ने ग्रेजुएशन किया था, जबकि सत्यार्थ मिश्रा (16) हाई स्कूल का छात्र था। मां की बीमारी के चलते सुबह करीब साढ़े पांच बजे वह मां की दवा लेने के लिए पल्सर बाइक से सीतापुर को रवाना हुए। जहां जाते समय पारा के बुधेश्वर पुल पर ही किसी अज्ञात वाहन ने टक्कर मार दी। जिससे दोनों की मौके पर ही मौत हो गयी। जबकि अज्ञात चालक फरार हो गया।

दोनों बेटों की मौत की जानकारी बीमार मां और बाप को हुई तो दोनों के होश ही उड़ गये। जवान बेटों की लाश घर के आँगन में देखकर माँ का रो-रो कर बुरा हाल था। उन्होंने कहा, बीमारी के चलते मुझ बुढ़िया को ऊपर वाला उठा लेता, लेकिन भगवान ने बूढ़े माँ-बाप का सहारा ही छीन लिया।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top