जौनपुर में खाद भंडार में चल रही थी ट्रेन टिकट की दलाली

Khadim Abbas RizviKhadim Abbas Rizvi   24 Jun 2017 6:20 PM GMT

जौनपुर में खाद भंडार में चल रही थी ट्रेन टिकट की दलालीप्रतीकात्मक तस्वीर 

स्वयं डेस्क डेस्क

जौनपुर। जंघई के गिरिजा टाकीज के पास से राय खाद भंडार में ट्रेनों के टिकट की दलाली करने का मामला सामने आया है। यहां से यात्रियों की मजबूरी का फायदा उठाकर उनसे अधिक रेट में टिकट बेचा जाता था।

जंघई आरपीएफ टीम ने दलाली के इस खेल का भांडाफोड़ करते हुए दो दलालों को पकड़ा है। उनके पास से कई यात्रियों को बेचने के लिए रखा एक लाख रुपए से अधिक का टिकट बरामद हुआ है।

ये भी पढ़ें : रेल इंजन पर क्यों लिखा होता है यूनिक कोड, क्या होते हैं इसके मायने

शुक्रवार को मुखबिरों की सुचना पर आरपीएफ इंस्पेक्टर जंघई रोहताश कुमार ने एक टीम गठित करके जंघई गिरिजा टाकीज के पास राय खाद भंडार की दुकान में छापा मारा। इस दौरान आरपीएफ टीम ने खाद भंडार संचालक महेश कुमार और मीरगंज के करियांव गाँव निवासी सुरेश कुमार पांडेय को पकड़ लिया। आरपीएफ को उनके पास से 16 ट्रेनों के ई-टिकट व पांच काउंटर टिकट बरामद किए। इन टिकटों से 126 लोगों को यात्रा करनी थी।

यह सभी टिकट 24 से 30 जून के बीच के बताए जा रहे हैं। संचालक महेश कुमार से सख्ती से पूछताछ की तो उसने आधा दर्जन एजेन्टो के नाम भी बताए हैं, जिनके माध्यम से वह टिकट इकट्ठा करके रखता था।

पकड़े गए दलाल

एक लाख रुपए से अधिक की कीमत के टिकटों को दलाल तीन गुना दामों मे बेचने की बात स्वीकार की है। इन टिकटो की इलाहाबाद जंघई व फुलपुर मे बोर्डिंग थी सभी काउंटर टिकट जंघई स्टेशन के काउंटर से कई माह पहले फर्जी आईडी के सहारे निकाले गये थे और ई टिकट जगह-जगह के साइबर कैफे से निकाले गये थे। दोनों व्यक्तियों को रेलवे की धारा 143 आरक्षित टिकटों का अवैध रुप से कारोबार करना के तहत चालान करके जेल भेज दिया गया। दलालों को पकड़्ने वाली टीम में सआई कुन्दन कुमार एसआई अरविन्द सिंह कांस्टेबल सत्यनारायण यादव अनन्त यादव व प्रमोद सरोज शामिल थे।

ये भी पढ़ें : व्हाट्सएप ग्रुप से गरीब लड़की की शादी के लिए इकठ्ठा किए 35 हजार रुपए

जंघई के आरपीएफ इंस्पेक्टर रोहताश कुमार बताते हैं, “पकड़े गए दलालों के पास से कई अहम जानकारियां मिली हैं। इस जानकारी से टिकटों के अवैध कारोबार का बड़ा नेटवर्क फेल होने की संभावना है। लगभग आधा दर्जन से अधिक दलालों की पहचान की गई है। जल्द ही उन्हें भी गिरफ्तार किया जाएगा।”

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top