विदेशियों को सेना में भर्ती कराने के लिए फर्जी प्रमाणपत्र देने वाले तीन दबोचे

विदेशियों को सेना में भर्ती कराने के लिए फर्जी प्रमाणपत्र देने वाले तीन दबोचेगिरफ्तार अभियुक्त अवध प्रकाश, अजय सिंह और नागेश मौर्या

लखनऊ। भारतीय सेना में भर्ती होने के लिए विदेशियों को फर्जी शैक्षणिक प्रमाणपत्र बनवाकर देने वाले तीन लोगों को यूपी एटीएस ने शु्क्रवार को वाराणसी से गिरफ्तार कर लिया। बता दें कि यूपी एटीएस ने बीती 24 अक्टूबर को वाराणसी से नेपाली नागरिक दिलीप और चंद्र बहादुर को गिरफ्तार किया था।

यूपी एटीएस के मुताबिक, यूपी एटीएस की गिरफ्त में आए तीन आरोपियों में शिवपुर वाराणसी निवासी अजय कुमार सिंह और नागेश्वर कुमार मौर्या, वाराणसी के चौबेपुर निवासी अवध प्रकाश मौर्य उर्फ बबलू शामिल है। इन आरोपियों में नागेश्वर मौर्या की कचहरी पर फोटो स्टेट और प्रिंटिंग की दुकान है। नागेश्वर के संरक्षण में कर्मचारी अवध प्रकाश इसी दुकान से फर्जी मार्कशीट आदि बनाता था। वहीं, अजय सिंह इसी दुकान से फर्जी मार्कशीटों और प्रमाणपत्रों को पैसे देकर बनवाता था।

अजय कुमार एटीएस द्वारा गिरफ्तार चंद्र बहादुर खत्री का प्रमुख दला है, जो खत्री को फर्जी शैक्षणिक प्रमाण पत्र उपलब्ध कराने का कार्यकरता है। चंद्र बहादुर हाई स्कूल और इंटर के प्राप्त मार्कशीटों को नेपाली युवकों को देकर उन्हें सेना में भर्ती कराने का कार्य करता था। सेना में भर्ती विष्णु लाल भट्टा राय (दिलीप) को भी इसी ने ही फर्जी प्रमाण पत्र आदि उपलब्ध कराए थे। गिरफ्तार तीनों अभियुक्तों के पास से कंम्प्यूटर, लैपटॉप, प्रिंटर, कई मार्कशीट, प्रमाण पत्र समेत मुहर बरामद हुए हैं।

यूपी एटीएस के आईजी असीम अरुण ने बताया कि एटीएस के निरीक्षण विजय मल यादव के नेतृत्व में गिरफ्तार तीनों अभियुक्तों से पूछताछ कर आवश्यक कार्रवाई की जाएगी।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top