शौचालय निर्माण की रकम में हुई हेरा-फेरी  

शौचालय निर्माण की रकम में हुई हेरा-फेरी  शौचालय बनवाने की रकम में बड़ी हेरा-फेरी हुयी है।

गौरव त्रिपाठी, कम्युनिटी जर्नलिस्ट

कानपुर। कानपुर नगर में स्वच्छ भारत मिशन के तहत गाँवों में शौचालय बनवाने की रकम में बड़ी हेरा-फेरी हुयी है। विकास खंड बिल्हौर ब्लॉक के कई गाँवों में इस तरह के मामले सामने आए हैं। इस ब्लाक के गाँव में नियम के विरुद्ध लाभार्थियों को शौचालय निर्माण की प्रोत्साहन राशि प्रदान करने की जगह धनराशि को फर्मों के बैंक खातों में स्थानांतरित किया गया है।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

कानपुर नगर के बिल्हौर विकास खण्ड के गांव अकबरपुर सेंगए संजती बादशाहपुर और राधन में जाँच के दौरान शौचालयों के निर्माण कार्यों में अनियमितताएं सामने आई थी, जिसके बाद डीपीआरओ (ज़िला पंचायत राज अधिकारी) ने प्रधानों और वीडीओ (ग्राम विकास अधिकारी) से नोटिस ज़ारी करके स्पष्टीकरण माँगा है ।

कानपुर नगर के सभी वीडीओ-ग्राम प्रधानों को स्पष्ट रूप से निर्देश दिए गए थे कि शौचालय के निर्माण के लिए लोगों को प्रेरित किया जाये और उनके द्वारा निर्माण कराया जाये व पैसा सीधे उनके खातों में ही भेजें। इन गांवों में ऐसा नहीं किया गया। अनियमितताओं को देखते हुए सभी से एक सप्ताह में स्पष्टीकरण मांगा गया है।”
आरएस चौधरी, डीपीआरओ, कानपुर नगर

योजना के अंतर्गत लाभार्थियों को खुद शौचालय निर्माण करवाने पर 12 हजार रुपये की प्रोत्साहन राशि दी जाती है। लेकिन इन गाँव में वीडीओ ने ग्राम प्रधान के साथ मिलकर शौचालयों का निर्माण करा दिया और निर्माण के बदले फर्मों के खाते में भुगतान कर दिया गया। जांच में शौचालय निर्माण की गुणवत्ता भी सही नहीं मिली है। प्रभारी डीएम रहे अरुण कुमार ने कहा,“कई ग्राम प्रधानों को नोटिस जारी किया गया है। एक सप्ताह के अंदर स्पष्टीकरण का समय दिया गया है।”

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top