बनारस हिंदू विश्वविद्यालय में एमए प्रथम सेमेस्टर की परीक्षा में पूछे गए तीन तलाक और हलाला को लेकर सवाल

बनारस हिंदू विश्वविद्यालय में एमए प्रथम सेमेस्टर की परीक्षा में पूछे गए तीन तलाक और हलाला को लेकर सवालबनारस हिंदू विश्वविद्यालय एक बार फिर से चर्चा में है।

बनारस हिंदू विश्वविद्यालय एक बार फिर से चर्चा में है। बीएचयू में एमए प्रथम सेमेस्टर के इतिहास में अलाउद्दीन खिलजी तीन तलाक और हलाला को लेकर सवाल पूछे गए। इन प्रश्नों को देखकर छात्रों को काफी गुस्सा आया। छात्रों ने आरोप लगाते हुए कहा कि इस तरह के सवाल पूछकर उन पर विचारधार थोपी जा रही है।

मामले में बीएचयू के असिस्टेंट प्रोफेसर राजीव श्रिवास्तव ने कहा कि अगर छात्रों से ऐसी चीजें नहीं पूछी जाएंगी तो उन्हें इसकी जानकारी कैसे होगी? ये सवाल मध्यकालीन इतिहास में खुद ब खुद अपनी जगह बना रहे हैं।

ये भी पढ़ें- तीन तलाक सम्बन्धी विधेयक के मसौदे पर सहमति जताने वाला पहला राज्य बना उत्तर प्रदेश

छात्रों का कहना है कि विचारधारा थोपने के कारण उनसे जानबूझकर ऐसे सवाल पूछे जा रहे हैं। राजीव का कहना है कि अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी, जेएनयू बाल विवाह, सती प्रथा पर सवाल करते हैं। इस्लाम में कमियां हैं, जिन्हें बताना चाहिए। उन्होंने कहा कि जब हमें इस्लाम का इतिहास पढ़ाना होगा तो हमें इस तरह की चीजों को बताना होगा।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top