बसपा सरकार में गरीबों के लिए शुरू आशियाने का निर्माण अब तक अधूरा

बसपा सरकार में गरीबों के लिए शुरू आशियाने का निर्माण अब तक अधूराऔरैया के अजीतमल तहसील में गरीबों के लिए बने अधूरे मकान।

विनय सोनी, स्वयं कम्यूनिटी जर्नलिस्ट

अजीतमल/औरैया। बसपा के शासन काल में गरीबों के लिए शुरू कराए गए आशियाने का निर्माण अभी तक अधूरा पड़ा है। कोई देख-रेख न होने की वजह से बस्ती के आस-पास के लोग उसमें अपने पशु बांध रहे हैं। जी हां, ये हाल जिले के कई हिस्सों में है। जिला मुख्यालय से 32 किलोमीटर दूर अजीतमल कस्बे में तीन जगह कांशीराम आवास बने हुए हैं। विद्या नगर बाबरपुर में 18, शास्त्री नगर बाबरपुर में 18 और गांधी नगर अजीतमल में 50 आवास गरीबों के लिए बनवाए गए थे।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

बसपा के शासन काल में ये आवास पूर्ण नहीं हो पाए, जबकि सपा शासन ने अपने कार्यकाल में इस तरफ कोई ध्यान नहीं दिया। हालात ये है कि आज तक ये आवास अधूरे पड़े हैं। यही नहीं आवास मिलने का सपना संजोए लोगों के अरमानों पर पानी फिर गया है। अधूरे पड़े आवासों में जहां लोग पशुओं को बांध रहे है। वहीं ये आवास अराजक तत्वों के अडडे बन गए हैं।

शासन से ही इन कालोनियों को पूरा करने के लिए बजट नहीं आया, इसलिए अधूरी पड़ी हैं। अगर पैसा आए तो निर्माण कार्य पूरा कराकर गरीबों को दे दिए जाएंगे।
राजेंद्र कुमार, एसडीएम, अजीतमल

अजीतमल निवासी जितेंद्र सिंह बताते हैं कि “सरकारों की उपेक्षा के चलते ये आवास अधूरे पड़े हुए हैं। अगर नई सरकार इस ओर ध्यान दें तो गरीबों को आवास मुहैया हो सके।” वहीं, अजीतमल-बाबरपुर निवासी गौरव सिंह (34) का कहना है कि अधूरे पड़े आवासों में अराजकता बढ़ी हुई है।

ये भी पढ़ें: पशु चिकित्सालय में खोल दिया यूनानी चिकित्सालय, भवन ऐसा कि मरीज जाने से घबराते हैं

लोग उसमें पशु बांध रहे हैं। अगर आवास का निर्माण पूर्ण कराया जाए तो लोगों को आवास मुहैया हो सके।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top