यूपी पुलिस : ढलती उम्र को दरकिनार कर फर्ज के साथ-साथ दिखाई इंसानियत, हुए सम्मानित

Mohit AsthanaMohit Asthana   6 July 2017 3:44 PM GMT

यूपी पुलिस : ढलती उम्र को दरकिनार कर फर्ज के साथ-साथ दिखाई इंसानियत, हुए सम्मानितशिवदत्त को पुरस्कृत करती एसपी नेहा पांडे।

उन्नाव। जहां एक ओर पुलिस का रवैया समाज में लोगों के बीच नकारात्मक प्रभाव डाल रहा है वहीं इसी विभाग में एक शख्स ऐसा भी है जो मित्र पुलिस जैसे शब्द के मायने को पूरी तरह से निभा रहा है। 1987 बैच के 50 वर्षीय पुलिस विभाग में सिपाही के पद पर तैनात शिवदत्त लोगों के बीच चर्चा का विषय है।

इस उम्र में ऐसा जज्बा देखकर लोगों ने भी शिवदत्त की सराहना की। वैसे तो जरूरत मंदों की सहायता करना इनकी आदत में है लेकिन बीती 21 मई को उन्नाव में हुए लोकमान्य तिलक रेल हादसे ने शिवदत्त को सुर्खियों में ला दिया। सोशल मीडिया में शिवदत्त के इस हौसले की लोगों ने खूब प्रशंसा की। हादसे के दौरान पुलिस फोर्स की भीड़ में शिवदत्त अकेले ऐसे पुलिस कर्मी दिखे जिन्होंने अपनी वर्दी की लाज तो रखी ही साथ में इंसानियत को शर्मसार होन से भी बचा लिया।

यात्रियों को सुरक्षित स्थान तक पहुंचाते शिवदत्त।

ये भी पढ़ें- किसान बिना खर्चे के घर में बनाएं जैविक कीटनाशक

भीषण गर्मी में पसीने से लतपत शिवदत्त रेल हादसे के शिकार यात्रियों की मदद कर रहे थे। एक हाथ में बैग सर पर अटैची रख कर यात्रियों को सुरक्षित स्थान तक पहुंचाने का काम जिस तल्लीनता के साथ शिवदत्त कर रहे थे उसे देखकर हादसे के दौरान एकत्र हुई भीड़ शायद यही कह रही थी ये वास्तव में पुलिस वाला ही है। उम्र दराज होने के कारण कमजोर शरीर के बावजुद शिवदत्त ट्रेन के यात्रियों की लगातार मदद करते रहे।

ट्विटर पर भी जब लोगेां को इनके इस कारनामें के बारे में पता चला तो हजारों की संख्या में लोगों ने कमेंट किये। शिवदत्त के इस सराहनीय कार्य का पता जनपद की पुलिस अधीक्षिका नेहा पांडे को चला तो उनहोने बीते दिनों शिवदत्त को पुरस्कृत किया। इतना ही नहीं शासन स्तर से सम्मानित होने के लिये भी उनका नाम भेजा गया है। मौजूदा समय में शिवदत्त उन्नाव जनपद के गंगाघाट चौकी में तैनात है।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top