उन्नाव में लोकमान्य तिलक एक्सप्रेस के 11 डिब्बे पटरी से उतरे, दोषियों पर कड़ी कार्रवाई के निर्देश 

Sanjay SrivastavaSanjay Srivastava   21 May 2017 5:39 PM GMT

उन्नाव में लोकमान्य तिलक एक्सप्रेस के 11 डिब्बे पटरी से उतरे, दोषियों पर कड़ी कार्रवाई के निर्देश उन्नाव रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म संख्या तीन पर लोकमान्य तिलक एक्सप्रेस 22121 के 11 डिब्बे पटरी से उतर गए।

उन्नाव (उत्तर प्रदेश) (भाषा)। उत्तर प्रदेश में उन्नाव रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म संख्या तीन पर आज दोपहर लोकमान्य तिलक एक्सप्रेस 22121 के 11 डिब्बे पटरी से उतर गए। हादसे में किसी के घायल होने की सूचना नहीं है। रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने रेलवे बोर्ड के चेयरमैन को इस मामले में दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया है।

रेल मंत्रालय ने ट्वीट किया है, दुर्घटना में कोई यात्री घायल नहीं हुआ है और रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने रेलवे बोर्ड के चेयरमैन को इस मामले में दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया है। हादसे के तुरंत बाद रेलवे और जिला प्रशासन के आला अधिकारी घटनास्थल पर पहुंचे और डेढ़ घंटे के भीतर ट्रेन के यात्रियों को बस और अन्य ट्रेन के जरिए लखनऊ रवाना कर दिया गया।

उत्तर मध्य रेलवे के जनसंपर्क अधिकारी अमित मालवीय ने बताया कि कानपुर रेलवे स्टेशन पर तीन हेल्पलाइन नंबर जारी किए गए हैं। यह नंबर हैं एसटीडी कोड -- 0512 और फोन नंबर हैं.... 2323015, 2323016, 2323017। लखनऊ हेल्पलाइन नंबर हैं 9794830973, 9794830975 और 0522---2237677।

उन्नाव रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म संख्या तीन पर लोकमान्य तिलक एक्सप्रेस 22121 के 11 डिब्बे पटरी से उतर गए।

उन्नाव रेलवे स्टेशन के अधीक्षक विश्राम सिंह ने बताया कि उत्तर रेलवे के महाप्रबंधक समेत रेलवे के अधिकारी घटनास्थल पर पहुंच रहे हैं। उन्नाव की एसडीएम सदर मेघा रुपम ने पत्रकारों को बताया कि एटीएस की टीम भी घटनास्थल पर पहुंच गई है, डॉग स्कवायड पहले ही उन्नाव स्टेशन पर आ चुका है और घटनास्थल की जांच की जा रही है।

उत्तर प्रदेश से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

उन्नाव की पुलिस अधीक्षक नेहा पांडे ने बताया कि आज दोपहर करीब पौने दो बजे मुंबई से लखनऊ जा रही लोकमान्य तिलक एक्सप्रेस के 11 डिब्बे उन्नाव रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर तीन पर अचानक पटरी से उतर गए। स्टेशन होने के कारण ट्रेन की गति धीमी थी इसलिए कोई बड़ा हादसा नहीं हुआ।

उन्होंने कहा, ट्रेन वातानुकुलित होने के कारण उसके सभी दरवाजे बंद थे, इसलिए यात्रियों में भी भगदड़ नहीं मची और इससे भी काफी राहत मिली।

इस हादसे पर रेल मंत्रालय ने ट्वीट किया है, ‘‘इस हादसे में कोई घायल नहीं हुआ है. रेल मंत्री ने रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष को कड़ी कार्रवाई का निर्देश दिया है, अप लाइन दुरुस्त और सामान्य है, ट्रेनों की आवाजाही शुरू हो गई है।''

रेलवे अधिकारियों का कहना है कि ट्रेन कैसे दुर्घटनाग्रस्त हुई इसकी जांच रेलवे के अधिकारियों की टीम के साथ एटीएस के अधिकारी भी करेंगे।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top