आईएस खुरासान मॉड्यूल के आतंकी गौस मुहम्मद और आतिफ को लेकर साथ लेकर पहुंची जांच एजेंसिया, खंगाले घर

आईएस खुरासान मॉड्यूल के आतंकी गौस मुहम्मद और आतिफ को लेकर साथ लेकर पहुंची जांच एजेंसिया, खंगाले घरकानपुर में नकाबपोश संदिग्ध आतंकियों के साथ जांच एजेेंसियों के जवान।

उन्नाव/कानपुर। कानपुर में खुरासान मॉड्यूल का खुलासा होने के बाद एटीएस की कार्रवाई लगातार जारी है। मंगलवार को एटीएस की टीम ने शहर में एक बार फिर छापा मारा। यहां टीम के साथ लखनऊ में मुठभेड़ में मारे गए संदिग्ध आतंकी सैफुल्ला के दो साथी भी मौजूद थे।

टीम ने नकाबपोश युवकों की मौजूदगी में शहर में कई जगह छापे मारे और अहम साक्ष्य भी जुटाए। बताया जा रहा है कि एटीएस टीम को इस बात के साक्ष्य मिले हैं कि मुठभेड़ में मारा गया आतंकी सैफुल्लाह अपने साथियों के साथ शहर में भी रुका था।

लखनऊ में मुठभेड़ के दौरान सैफुल्ला की मौत और कानपुर से आईएस मॉड्यूल खुरासान का खुलासा होने के बाद से एटीएस सक्रिय है। कानपुर-लखनऊ व उसके आसपास के जिलों में लगातार एटीएस की कार्रवाई चल रही है। जहां इस नेटवर्क की तह तक पहुंचने की कोशिश की जा रही है। इस बीच मंगलवार सुबह एनआइए टीम ने भारी पुलिस बल के साथ शहर में दस्तक दी। यहां नीली बत्ती लगी, लगभग आधा दर्जन कारों के साथ टीम ने सबसे पहले स्टेशन रोड स्थित एक दरगाह के निकट छापा मारा।

प्रत्यक्षदर्शियों की माने तो यहां टीम के साथ दो नकाबपोश युवक भी थे जिनके साथ टीम दरगाह के पास पहुंची और कई तस्वीरें लीं। इस बीच लगभग दस मिनट तक जांच चलती रही जिसके बाद टीम वहां से चली गई। स्टेशन रोड पर जांच के बाद टीम छिपियाना मोहल्ला पहुंची। यहां भी टीम ने ठीक वैसा ही किया जो स्टेशन रोड पर किया गया था। नकाबपोश युवकों के साथ टीम ने यहां की मौला अली दरगाह के निकट कुछ तस्वीरें ली। साथ ही क्षेत्र में कुछ लोगों से पूछताछ की। पुलिस सूत्रों के अनुसार जिन दो युवकों के साथ एटीएस की टीम मंगलवार को शहर आई थी वह पहले शहर में रुक चुके हैं। एटीएस की हिरासत में मौजूद रहे युवक सैफुल्ला के मित्र थे। एेसे में माना जा रहा है कि सैफुल्ला भी शहर में उनके साथ रुका हुआ होगा हालांकि पुलिस ने इस बात की पुष्टि नहीं की है।

आतंकी मुठभेड़ के बाद हुई थी कार्रवाई

उन्नाव। लखनऊ में आतंकी सैफुल्ला के एनकाउंटर के ठीक बाद एटीएस टीम ने एक चमड़ा फैक्ट्री में छापा मारा था। यहां से टीम ने एक आतंकी के रिश्तेदार को फैक्ट्री से उठाया था। फैक्ट्री से युवक को हिरासत में लिए जाने के बाद से ही उन्नाव एटीएस की नजर में था।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top