भ्रूण हत्या रोकने के लिए योगी ने शुरू की ‘मुखबिर’ योजना

भ्रूण हत्या रोकने के लिए योगी ने शुरू की ‘मुखबिर’ योजनायोगी ने शुरू की ‘मुखबिर’ योजना।

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कन्या भ्रूण हत्या रोकने के लिए प्रदेश में ‘मुखबिर’ योजना शुरूआत कर दी है। यह योजना पीसीपीएनडीटी एक्ट के तहत शुरू की गई है। इस योजना के तहत भ्रूण लिंग की पहचान बताने वाले नर्सिंग होम व अल्ट्रासाउंड सेंटरों पर कार्रवाई की जाएगी। इस योजना के तहत अब कन्या भ्रूण हत्या की जानकारी देने वाले को सरकार दो लाख रुपये का इनाम देगी।

ये भी पढ़ें : एंबुलेंस सेवा के लिए आधार होगा जरूरी

‘मुखबिर’ योजना कन्या भ्रूण हत्या को रोकने के लिए शुरू की जा रही है। इस योजना के तहत उन अल्ट्रासाउंड सेंटरों और नर्सिंगहोम को चिह्नित किया जाएगा। जो प्रेग्नेंट वुमन में कन्या भ्रूण होने की जानकारी शेयर करते हैं। ऐसे लोगों को पकड़ने में 'मुखबिर’ के तौर पर एनजीओ की मदद ली जाएगी। एनजीओ की सूचना पर पुलिस और स्वास्थ्य विभाग की टीम बताए गए पते पर छापा मारेगी। उसके बाद सरकार संबंधित अल्ट्रासाउंड सेंटर्स और नर्सिंगहोम के खिलाफ़ कार्रवाई करेगी। इसके बदले एनजीओ को उचित इनाम भी दिया जायेगा।

ये भी पढ़ें : केजरीवाल की इफ्तार पार्टी में ‘विश्वास’ नहीं

इस योजना के तहत अब प्रदेश भर जिलों में 64 रेस्क्यू वैन चलेंगी जो महिलाओं की मदद करेंगी। इस मौके पर उन्होंने कहा कि समाज में भेदभाव के बावजूद आज बेटियां अच्छा कर रही हैं। हमें परिवार में बेटियों को बराबरी का दर्जा देना होगा। ये योजना महिलाओं को सुरक्षा देगी।

ये भी पढ़ें : कस्तूरबा की छात्राएं सीखेंगी अंग्रेजी

उन्होंने मेधावी छात्र सम्मान का जिक्र करते हुए कहा कि यूपी सरकार द्वारा सम्मानित होने वाले 147 विद्यार्थियों में 99 बेटियां थीं। वो भेदभाव के बाद भी अच्छा कर रही हैं। उन्होंने कहा कि सरकार के महिलाओं के लिए किए जा रहे काम को प्रचारित करने की भी कहा कि समाज से भेदभाव कैसे दूर हो इस पर भी हमें ही प्रयास करना है।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिएयहांक्लिक करें।

Share it
Share it
Share it
Top