यूपी: अब हर माह 500 रुपये मिलेगी दिव्यांगों को पेंशन 

यूपी: अब हर माह 500 रुपये मिलेगी दिव्यांगों को पेंशन योगी दिव्यांगों की पेशन 500 रुपये प्रतिमाह करने का ऐलान किया।

देवरिया (आईएएनएस/आईपीएन)। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि जनशिकायतों के त्वरित निस्तारण के लिए तहसील और थाना दिवस को समाधान दिवस के रूप में आयोजित करें।

इस दौरान ही तहसील परिसर में दिव्यांगजन के प्रमाणपत्र सहित जाति, निवास, आय आदि प्रमाण पत्रों को एक ही छत के नीचे बनाने की व्यवस्था की जाए। साथ ही उन्होंने दिव्यांगों की पेशन 500 रुपये प्रतिमाह करने का ऐलान किया।

देवरिया स्थित सलेमपुर के बापू इंटर कालेज में आयोजित सामाजिक अधिकारिता शिविर में मुख्यमंत्री ने 1032 दिव्यांगजन को 74 लाख 86 हजार रुपये की लागत के सहायक उपकरणों का वितरण किया। यहदिव्यांगजन सलेमपुर संसदीय क्षेत्र की पांच विधानसभा क्षेत्रों से थे। इस दौरान योगी ने कहा कि जोदिव्यांगजन सहायक उपकरण प्राप्त करने से शेष रह गए हैं उन्हें भी कैम्प लगाकर उपकरण प्रदान किए जाएंगे।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

प्रदेश में 9 लाख दिव्यांगजन हैं जिन्हें आर्थिक सहयोग के रूप में पूर्व में मिल रही 300रुपये की मासिक पेंशन को बढ़ाकर 500 रुपये प्रतिमाह करने का निर्णय राज्य सरकार ने लिया है। जो दिव्यांगजन पेंशन से वंचित हैं उन सभी को भी पेंशन दी जाएगी। उन्होंने प्रमाणपत्र से वंचित दिव्यांगजन हेतु प्रत्येक सोमवार को मुख्यचिकित्साअधिकारी कार्यालय पर तथा तहसील दिवस पर भी प्रमाणपत्र बनाये जाने की व्यवस्था करने के निर्देश दिए।

योगी ने कहा कि राज्य सरकार ने किसानों के हित में अनेक योजनाएं संचालित की हैं। अभी तक 5500 करोड़ रुपये के गन्ना मूल्य का भुगतान कराया जा चुका है। उन्हों ने कहा कि प्रतापपुर चीनी मिल को चालू कराये जाने की व्यवस्था करने के निर्देश मिल प्रबंधक को दे दिए गए हैं। भटनी सहित अन्य चीनी मिलों को औने-पौने दाम पर बेचने की जांच कराई जाएगी तथा दोषियों के विरुद्ध कार्यवाही होगी। उन्होंने कहा कि गेहूं क्रय केन्द्रों के माध्यम से पिछले साल की इसी अवधि के मुकाबले तीन गुना अधिक गेहूं की खरीद होचुकी है।

बीपीएल परिवारों को नि:शुल्क बिजली कनेक्शन उपलब्ध कराया जाएगा। उन्होंने कहा कि ग्रामप्रधानों के साथ नवयुवक मंगलदल समन्वय के साथ इस कार्य में अपनी भागीदारी निभायें, जिससे प्रदेश की 22 करोड़ जनता स्वस्थ रहे और देश को आत्मनिर्भर और सशक्त बनाने में अपनी भूमिका निभा सके।
योगी आदित्यनाथ, मुख्यमंत्री

उन्होंने आंगनबाड़ी एवं आशाकार्यकत्रियों की समस्याओं का निस्तारण कराये जाने का अश्वासन भी दिया। समारोह के विशिष्ट अतिथि केन्द्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री थावरचन्द गहलोत ने कहा कि दिव्यांग जन को सशक्त व स्वावलम्बी बनाए जाने की प्रधानमंत्री की सोच एवं संकल्प के अनुरूप दिव्यांग जन को सहायक उपकरण सार्वजनिक समारोह में वितरित किए जाने का निर्णय लिया गया है।

उन्होंने कहा कि अब तक समारोह के माध्यमसे 6.5 लाख दिव्यांग जन को 600 करोड़ रुपये के सहायक उपकरण वितरित किए जा चुके हैं। इसके लिए 5400 से अधिक शिविर आयोजित किए गए हैं। प्रदेश में भी लगभग 100 शिविर आयोजित किए गए हैं। उन्होंने कहा कि इस तरह के शिविर सभी संसदीय एवं विधानसभा क्षेत्रों में आयोजित किए जाएंगे।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top