यूपी: लोगों ने ट्विटर पर डीजीपी से पूछे सवाल, भ्रष्टाचार रहा बड़ा मुद्दा

Abhishek PandeyAbhishek Pandey   30 Nov 2017 10:24 PM GMT

यूपी: लोगों ने ट्विटर पर डीजीपी से पूछे सवाल, भ्रष्टाचार रहा बड़ा मुद्दाडीजीपी सुलखान सिंह। फोटो साभार: इंटरनेट

लखनऊ। “सर, आपकी पुलिस थानों में मुकदमा दर्ज कराने जाने पर रिश्वत मांगती है और रिश्वत देने के बावजूद भी थानों में काम नहीं होता है।“ कुछ इन्हीं सवालों से गुरुवार शाम सोशल मीडिया के ट्विटर प्लेटफार्म पर यूपी के डीजीपी सुलखान सिंह को दो-चार होना पड़ा।

डीजीपी ने बड़े बेबाकी से दिया जवाब

उत्तर प्रदेश के हर इलाके से पुलिस की प्रताड़ना से आजीज आम लोगों ने पुलिस के मुखिया को अपना दर्द बयां किया। जनता ने अपने दर्द में डीजीपी सुलखान सिंह को पुलिस की करनी और कथनी की हकीकत से रुबरू कराया। जनता के तमाम मुद्दों को डीजीपी ने बड़े बेबाकी से जवाब दिया और साथ ही संबंधित शिकायतों के निपटारे के लिए जिलों के पुलिस अधिकारियों को तत्काल निर्देशित किया।

एक घंटे लोगों के सवालों के दिए जवाब

डीजीपी पीआरओ और सोशल मीडिया इंचार्ज राहुल श्रीवास्तव ने बताया, “आम जनता से ट्विटर के माध्यम से सीधे संवाद में यूपी के डीजीपी सुलखान सिंह गुरुवार शाम 5:30 बजे से 6:30 बजे तक सीधे जुड़े रहे। इस दौरान प्रदेश भर से लोगों ने उनसे कई सवाल पूछने के साथ-साथ अपनी शिकायतें दर्ज कराई। जिसका संज्ञान लेकर उन पर कार्रवाई के लिए संबंधित जिलों के पुलिस कप्तानों को निर्देश जारी कर दिए गए हैं।

आईपीएस ऑफिसर बनने की पूछी कुंजी

डीजीपी से ट्विटर पर पूछे गए सवालों में आम लोगों के सबसे अधिक सवाल पुलिस के करप्शन और इसमें सलिप्त पुलिसकर्मियों पर होने वाली प्रभावी कार्रवाई से था। इसके बाद आम जनता ने अपने-अपने जिलों की ट्रैफिक समस्या के संबंध में डीजीपी से शिकायत दर्ज कराई। इस बीच राघवेंद्र नाम के शख्स ने डीजीपी से आईपीएस ऑफिसर बनने की कुंजी पूछी। उसके इस सवाल का डीजीपी ने बड़े सादगी से जवाब देते हुए कहा, “मेहनत करने से हर मंजिल आसान हो जाती है।” वहीं डीजीपी से उनके महकमे के पुलिसकर्मी भी सवाल पूछना चाहते थे, लेकिन विभागीय कार्यवाही के डर से अपने किसी परिचित से कह कर अपने दिल की बात डीजीपी तक पहुंचाई।

यह भी पढ़ें: 24 जनवरी को मनाया जाएगा उत्तर प्रदेश दिवस

उत्तर प्रदेश में महंगी हुई बिजली

अब यूपी पुलिस के सामने मतगणना और बारावफात बड़ी चुनौती

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top